अवैध अवैध रेत उत्खनन कर्मियों को प्रशासन संरक्षण प्रशासन दे रहा अभयदान*रेत उत्खनन

कर्मियों को प्रशासन संरक्षण प्रशासन दे रहा अभयदान*

राशिद खान
शिवपुरी:- शिवपुरी जिले का स्थानीय प्रशासन का खुला संरक्षण ही है कि आज उतखंनकर्ता सरेआम जमीन को खोखला करने में लगे हुए है और अवैध उत्खनन को बढ़ावा दे रहे है हालांकि देखने दिखाने को प्रशासन द्वारा करैरा में कार्यवाही भी की गई लेकिन इस कार्यवाही में उन्हें संरक्षण दे दिया जो खुले आम प्रशासन की नाक के नीचे अवैध उत्खनन कर रहे है ऐसे में एक जेसीबी को जब्त कर वाहवाही लूटी गयी हो पर आज भी कई ऐसे क्षेत्र है जहाँ अवैध उत्खनन हो रहा है और उन्हें संरक्षण दे दिया गया। सूत्रों की खबर है कि इन अभयदान दिए गए उत्तखननकर्ताओ से प्रशासन को अच्छी खासी मोटी रकम मिलती है जिसके चलते यहाँ अवैध उत्खनन को बख्शा गया है।
जानकारी के अनुसार करेरा में इन दिनों अवैध रेत का परिवहन धड़ल्ले से चल रहा है वास्तविकता यह है कि जहां से मोटी रकम प्राप्त होती है वहां प्रशासनिक अमला पहुंचता ही नहीं है छोटे-मोटे रेत कर्मियों पर केस बना कर इतिश्री कर लेते हैं जहां प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने अवैध उत्खनन पर प्रतिबंध लगा रखा है वही प्रशासन की मिलीभगत से इन दिनों जिला शिवपुरी की करैरा तहसील क्षेत्र में कई खदाने अवैध रूप से संचालित हो रही है। इन्हें संरक्षण पुलिस और स्थानीय प्रशाषन द्वार दिया जा रहा है जो यह दर्शता है कि करैरा में अवैध उत्तखनन ही कमाई का जरिया बचा है जिसके चलते आये दिन ट्रैक्टर,ट्रॉली डंपरों से प्रतिदिन 200 डंपर से अवैध उत्खनन धड़ल्ले से चल रहा है।यह उत्खनन करैरा के *समोहा, मछावली, कारोठा,करैरा झंडा सीहोर और कल्याणपुर* में जबरदस्त तरीके से धरती को छलनी कर उत्खनन किया जा रहा है। ऐसा नही की यह कार्य किसी से छुपा नही है बल्कि उतखंनकर्ता यहाँ दबंगई और लेनदेन कर अपने मंसूबो को पूराकर रहे है। इस घटनाक्रम को लेकर स्थानीय ग्रामवासियो ने जिला कलेक्टर एवं खनिज विभाग अधिकारियों से उचित कार्यवाही की मांग की है।अब देखना होगा कि इस मामले स्थानीय प्रशासन भी कोई कदम उठाता है अथवा यूँ ही बे रोकटोक यह अवैध उत्तखनन होता रहेगा। इससे बड़े स्तर पर राजस्व को भी नुकसान पहुँच रहा है।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *