उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन मिलने पर महिलाओं की जिंदगी में आया बदलाव- श्रीमती सिंधिया

ग्राम कोटा में 58 लाख की लागत की नलजल योजना का किया शिलान्यास

विभिन्न योजनाओं के तहत हितग्राहियों को किया लाभांवित
शिवपुरी: खेल एवं युवा कल्याण, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने चूल्हे पर खाना बनाने की महिलाओं की परेशानी को समझते हुए उज्ज्वला योजना के माध्यम से महिलाओं को निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदाय किए गए है।
इन गैस कनेक्शनों से जहां महिलाओं की जिंदगी में बदलाव आएगा, वहीं परिजनों को समय पर खाना भी मिलेगा। इस योजना के शुरू होने से महिलाओं को जहां खाना बनाते वक्त धुएं से निजात मिलेगी। वहीं ईधन के रूप में उपयोग में होने वाले वृक्षों को भी संरक्षण मिलेगा। श्रीमती सिंधिया आज शिवपुरी जनपद पंचायत के ग्राम कोटा, हातौद और करई में आयोजित कार्यक्रमों में व्यक्त किए। श्रीमती सिंधिया ने इस दौरान ग्रामीणों के लिए अनेकों सौगाते दी।
कार्यक्रमों में पोहरी विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री प्रहलाद भारती, कोलारस के पूर्व विधायक श्री देवेन्द्र जैन, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री राजेश जैन, हातौद ग्राम पंचायत की सरपंच श्रीमती परवीन मल्होत्रा सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।
मंत्री श्रीमती सिंधिया ने ग्राम कोटा में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा 58 लाख की लागत की नलजल योजना का भूमिपूजन एवं 2 लाख 59 हजार की लागत से निर्मित होने वाली सी.सी.सड़क का भी भूमिपूजन किया। इस दौरान उन्होंने ग्राम हातौद में खेत तालाब योजना का भूमिपूजन एवं प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत निर्मित आवासांे में 6 हितग्राहियों को गृह प्रवेश कराया। इस दौरान ग्राम हातौद में ढाई लाख की लागत से निर्मित सिंगल फेश ट्यूववेल का भी शुभारंभ किया।
श्रीमती सिंधिया ने कार्यक्रमों में उज्ज्वला योजना के तहत ग्राम कोटा में 23 महिलाओं को, हातौद में 14 और ग्राम करई में 4 महिला हितग्राहियों को निःशुल्क गैस कनेक्शन एवं चूल्हे प्रदाय किए।
ग्राम कोटा में 14 परिवारों को आबादी अधिकार प्रमाण-पत्र, 06 किसानो को सूखा राहत की राशि, ग्राम हातौद में 05 किसानों को सूखा राहत की राशि, 10 आवासहीनों को आवासीय पट्टे, ग्राम करई में सूखा राहत योजना के तहत 09 किसानों को राहत राशि, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 02 किसानों को आवास उपलब्ध कराए गए। आदिम जाति कल्याण विभाग द्वारा ग्राम हातौद और करई में संगीत सामग्री एवं बाद्य यंत्र प्रदाय किए। उन्होंने ग्राम करई में विधायक निधि से 7 लाख की लागत से निर्मित सामुदायिक भवन का लोकार्पण किया।
श्रीमती सिंधिया ने कार्यक्रमों को संबोधित करते हुए कहा कि गरीब, मजदूर, किसान विकास की मुख्य धारा से जुड़े। इसके लिए केन्द्र की मोदी सरकार एवं प्रदेश की शिवराज सरकार ने समाज के सभी वर्गों के कल्याण के लिए योजनाए संचालित की है। एक रूप प्रति किलो की दर पर गेहूं, चावल, नमक गरीब परिवारों को प्रदाय किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत देश के सभी गरीब आवासहीनों को 2022 तक आवास उपलब्ध कराए जाएगें।
उन्होंने कहा कि महिलाओं के विकास के बिना देश का विकास संभव नहीं है। इसी को ध्यान में रखते हुए देश के प्रधानमंत्री ने उज्ज्वला योजना संचालित कर महिलाओं की जिंदगी में बदलाव लाया है। जिससे परिवार के साथ-साथ गांव एवं देश का भी नक्शा बदलेगा और महिलाए अब अपने परिवार को भी पूरा समय दे सकेंगी। गैस कनेक्शन मिलने से परिवार को जहां जल्दी पका हुआ भोजन मिलेगा, वहीं महिलाओं को धूंए से भी निजात मिलेगी। वहीं ईधन के रूप में उपयोग में होने वाले वृक्षों का भी संरक्षण होगा।
मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा कि धर्मस्व विभाग की मंत्री होने के नाते प्रदेश में मंदिरों के जीर्णोद्वार एवं सौदर्यकरण के कार्य किए जा रहे है। जिसके तहत करई के रामजानकी मंदिर सहित जिले के कई मंदिरों का सौदर्यकरण एवं जीर्णोद्वार का कार्य किया गया है। धर्मस्व विभाग द्वारा 60 वर्ष से अधिक आयु के वृद्धजनों को मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत निःशुल्क तीर्थ यात्राए कराई जा रही है। 60 वर्ष से अधिक आयु के तीर्थ यात्रियों के साथ उनके एक परिजन को जाने की सुविधा दी है।
अब मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत तीर्थ यात्री दो स्थानों की तीर्थयात्राए कर सकेंगे। उन्होंने 60 वर्ष से अधिक आयु के बुर्जुगो से आग्रह किया कि तीर्थयात्रा पर जाने हेतु जनपद पंचायत एवं नगर पालिका में अपना पंजीयन कराए। उन्होंने बताया कि रामेश्वरम तीर्थस्थल की यात्रा हेतु विशेष ट्रेन 11 जून को रवाना होगी। इसके लिए 26 मई तक अपना पंजीयन अवश्य कराए। उन्होंने कहा कि करई में निर्मित सामुदायिक भवन सर्वश्रेष्ठ सामुदायिक भवन होगा। इस भवन का उपयोग ग्रामीणजन सामाजिक कार्यों के लिए कर सकेंगे।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *