एक घन्टे की बारिश में नगर हुआ जलमग्न हालात बद से हुये बदतर नगर पालिका की खुली पोल

*एक घन्टे की बारिश में नगर हुआ जलमग्न*

*हालात बद से हुये बदतर नगर पालिका की खुली पोल*

*_अगर ठीक से साफ हो जाते नाले तो नहीं बिगड़ते हालात_*

*शिवपुरी* -नगर में अच्छी बारिश का इंतजार सभी को था जिससे पानी की समस्या ख़त्म हो सके और मानसून आते ही बारिश भी शुरू हुई और कल शाम को जो एक घन्टे तेज बारिश हुई उससे नगर के हालात बदतर हो गए थे अगर यह बारिश और होती रहती तो शायद नगर पालिका स्थिति भी नही सम्भाल पाती क्योंकि नपा के जिम्मेदारों को शहर की जनता की फ़िक्र कहाँ है।

*एक घंटे से अधिक होती बारिश तो क्या होता*

कल जो बारिश हुई वह तो केवल एक घन्टे ही हुई अगर यही बारिश एक घंटे और हो जाती तो जो पानी अभी सड़को पर निकल आया था वही पानी लोगों के घरों में घुस जाता और नगर में बाढ़ जैसे हालात बन जाते और स्थानीय लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता।

*विधायक ने दिए थे नाला सफाई के लिए 50 लाख*

नगर पालिका को स्थानीय विधायक यशोधरा राजे सिंधिया ने नगर में बाढ़ जैसे हालात ना बने तो नालों की सफाई के लिए विधायक निधि से 50 लाख दिए थे किंतु नपा ने केवल सफाई का ढोंग रचकर 50 लाख रुपये की बंदरबांट कर ली और अब भुगतना नगर की जनता को पड़ रहा है और यशोधरा समर्थक कुछ लोगो ने नपा के इस नाला सफाई के ढोंग में शामिल होकर केवल नालों के पास और मशीनों पर खड़े होकर फ़ोटोशेसन के अलावा कुछ नही किया।

*नालों की सफाई होती तो नही बिगड़ते हालात*

यही अगर नगर के सभी नालों की सफाई हो जाती तो हालात काबू में रहते पानी की निकासी नालों से होती रहती और बारिश का पानी सड़को व घरों में नही घुसता और वही जनता को परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता।

*नपा के जिम्मेदारो नहीं किया फ़ोन अटेंड*

वही नगर पालिका के प्रभारी सीएमओ गोविंद भार्गव और नपा के सबइंजीनियर (जो अब सहायक यंत्री की कुर्सी पर जमे बैठे है) आर.डी. शर्मा को नालों की सफाई और विधायक निधि से मिले 50 लाख रुपये की जानकारी लेने के लिए फ़ोन लगाया गया तो उनके द्वारा घंटियां जाने के बाद भी फ़ोन नही उठाया गया।

✍? *के.के.दुबे* ✍?

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *