करैरा में भाडे के टैंकरों से पेयजल परिवहन के बाद भी पानी की किल्लत।

*करैरा शिवपूरी….नगर पंचायत द्वारा नगर में पानी की किल्लत को देखते हुए पेयजल आभाव ग्रस्त बार्डों में पेयजल परिवहन हेतु भाडे पर टैंकर लगा कर जहां पेयजल आपूर्ति किये जाने के दावे किए जा रहे है वहीं पानी के लिए लोगों को रतजगा कर हैंडपंप से पानी ढोना पड रहा है। सूत्रो की माने तो नगर पंचायत द्वारा नगर में पानी की किल्लत स्व निर्मित होती है जिनके द्वारा सर्दी के मौसम में पानी की आवश्यकता न होने के बाद भी घंटो घंटों तक नलों से पानी बेकार बहाया जाता है ये जानते हुए कि नगर पंचायत के पास आवश्यकता के अनुपात से पेयजल भण्डारण की व्यवस्था नही है किन्तु फिर भी पानी का भण्डारण न कर अनावश्यक रुप से पानी बर्बाद किया जाता है।जिसका खामियाजा स्थानिय नागरिंको को उठाना पडता है।और पानी की व्यवस्था में भटकना पडता है। तथा नगर में पानी की किल्लत की एक और वजह उपलब्ध संसाधनों का सही ढंग से उपयोग न किया जाना भी माना जा सकता है। पानी की पर्याप्त उपलब्धता के बाबजूद सप्लाई व्यवस्था व उचित प्रबंधन के अभाव में लोगों को पेयजल संकट का सामना करना होता है। स्थानिय नागरिक नगर में पेयजल संकट की वजह नगर पंचायत द्वारा पेयजल आपूर्ति के नाम पर शासकीय बजट ठिकाने लगाने को बताते हैं। जिसके द्वारा मनमाने दर पर टैंकर लगा कर पार्षदों को संतुष्ट करने हेतु उनको ही टैंकरों का ठेका देकर कर संतुलन बैठाया जाता है जिससे अन्य कार्यों में पार्षदों द्वारा मीन मेख न निकाला जा सकें। ।और उनकी मनमानी चलती रहे ।*
**************************************
*अखिलेश दुबे (पत्रकार)*
*?9826522622*
**************************************

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *