करैरा: ससुराल में बहु की हुई पिटाई , नरवर पुलिस ने किया साधारण मामला दर्ज

नरवर पुलिस महिलाओ के प्रति नही है गम्भीर

करैरा लौटी तो पति के परिजनो ने मारा तो पुलिस ने अदम चैक काटकर इतिश्री की

करैरा :- करैरा अनुविभाग में महिला सबंधी गंभीर मामला सामने आया है । जिसमे करैरा थाना अंतर्गत डुमघुना गांव की महिला दिब्या भारती कुशवाह उम्र 23 वर्ष जिसका विवाह अप्रैल 2017 में नरवर में हुई थी ।शादी के कुछ समय बाद से ही ससुराल पक्ष बाले लड़की पर अनर्गल दबाब पैसों को लेकर बनाते थे । लेकिन लड़की के पिता की पूर्व में मृत्यु के कारण उसकी माँ ससुराल की तमाम जरुरत पूरी करने में सक्षम नही थी।

इसके बाद साल भर में छुटपुट मारपीट दिव्या की होती रहती थी । जिसे बदनामी के चक्कर मे दिव्या किसी से कहती नही थी लेकिन अपने मायके से पैसे लेने का दबाब जब ससुराल पक्ष के लोग डालते गये और दिव्या घर से रुपये लेकर नही आई तो उसके पति के साथ साथ सास , ससुर भी प्रताड़ित करते लगे ।

इसी तरह 4 मई के दिन शाम साढ़े 6 बजे दिव्य भारती कुशवाह अपने ससुराल में थी उसका पति सतीश कुशवाह आया और गालिया देने लगा , जब दिव्या ने अपने पति की गालियों का विरोध किया तो पति ने जमीन में पटकर लात से डंडो से मारपीट कर दी । जब दर्द के कारण दिब्या रोने लगी तो सास कुसुम कुशवाह एवं ससुर लेखराज कुशवाह आ गये उन्होंने दिव्या को अपने बेटे से बचाने की जगह मिलकर मारपीट कर दी ।

महिला इतनी डरी एवं सहमी थी जब उसका भाई आया तो बमुश्किल थाने में जाकर रिपोर्ट दर्ज करा पाई । लेकिन नरवर टी आई ने मामले को गंभीर न समझते हुए साधारण मामला दर्ज कर उल्टे दिव्या एवं उसके भाई को ही धमका दिया । दिव्या के भाई ने नरवर थाने में कही मिन्नते करी । उसके भाई का कहना था कि मेरी बहन मर जाती तो कौन जिम्मेदार होता लेकिन थाने में कोई सुनवाई नही हुई और धारा 323,294,506,34 आई पी सी के तहत मसमला दर्ज किया ।

नरवर पुलिस द्वारा दिव्या के ससुराल पक्ष के बचाव में यह साधारण मामला दर्ज किया । जबकी दिव्या ने बताया कि उसके देवर की नौकरी दिल्ली मैट्रो में लगी है तब से मेरे पति अपने आप मे ठगा महसूस करते थे इस कारण वह मुझसे पैसो का अनर्गल दबाब बनाते थे।

दिव्या करैरा आई तो हुई पुनः मारपीट लेकिन करैरा पुलिस ने 4 घँटे में अदम चैक काटकर भगाया

दिव्या नरवर से करैरा अपनी बहन के घर आई हुई थी यह भनक ससुराल पक्ष को लग गई और यह पता लगा कि थाने में एफआईआर कराकर दिव्या करैरा आई है तो दिव्या को बहला फुसलाकर दिव्या की नंद बैकुंठी कुशवाह ने अपने घर अपने बेटे के माध्यम से पुलिस सहायता केंद्र के पास बुलाया तो वहां पहले से दिव्या का पति सतीश कुशवाह मौजूद था । उसे देखकर दिब्या समझ गई कि मामला कुछ गड़बड़ है। वहां पति सतीश कुशवाह ने कहा मेरी रिपोर्ट लिखाकर करैरा आ गई । तो दिब्या ने कहा जब मेरे से इतनी मारपीट हुई मै क्यो शाँत रहू । इतना सुनकर पति सतीश कुशवाह, नंद बैकुंठी कुशवाह और नंदेऊ प्रताप कुशवाह ने लात,घूसे,डंडो से मारपीट की एवं हजारो जूते सर में मारे इससे दिब्या का पूरा सिर और वदन सूजा रखा था । दिब्या को उसकी बहन गोमती कुशवाह और मीना कुशवाह ने मरने से बचाया नही तो यह बेरहम मार मारकर दिब्या को मौत के घाट उतार देते । लेकिन जब करैरा थाने में 6 मई को रिपोर्ट लिखाने अपने भाई के साथ दिब्या गई तो पुलिस ने शाम 4 बजे से रात्री 10 बजे तक थाने में बैठालकर रखा और अदम चैक काटकर मैडिकल कराकर भगा दिया ।

महिलाओं के प्रति करैरा अनुविभाग में पुलिस का यह रवैया बहुत ही शर्मनाक है । एक महिला की लगातार मारपीट हो रही है पुलिस या तो अदम चैक काट रही है और एफआईआर जहाँ हो रही है वहाँ ऐसी धाराएँ लगाई गई कि पुलिस आरोपी की मदद के लिये बनी हो । नरवर पुलिस की गलती यह है इस मामले में दहेज एक्ट के साथ मामला दर्ज करना था और करैरा में जब पुनः मारपीट हुई तो मात्र करैरा पुलिस का अदम चैक काटकर इतिश्री करना भी एक शर्मनाक विषय है पुलिस का इतना पत्थर दिल देखकर मानवता भी शर्मसार हो जाये कि कही जब महिला अपनी जान गवा बैठती तो पुलिस जरुर ससुराल पक्ष पर जरुर मामला दर्ज करती ।

पुलिस अधीक्षक से गुहार लगायेगी महिला :-

आज पीड़ित महिला दिब्या भारती पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पांडे के पास शिवपुरी जाकर पूरे मामले की शिकायत करेगी कि किस प्रकार मारपीट की बाद भी पुलिस पक्षपात पूर्ण रवैया अपना रही है एवं करैरा पुलिस ने तो अदम चैक काटकर यह जता दिया कि हम महिला सबंधी प्रकरण में कितने संवेदन शील है ।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *