चंदन की हैंडवॉश रिपोर्ट निगेटिव, पुलिस महकमे में मची खलवली

-2016 में पुलिस ने बताया था कि एन्काउंटर में मारा गया है चंदन गड़रिया

पत्रकारों के समक्ष चंदा ने भी किया था सनसनीखेज खुलासा

शिवपुरी: वर्ष 2016 में हुए इनामी डकैत चंदन गड्रिया के कथित एंकाउंटर का मामला गहराता दिखाई दे रहा है। इस मामले में सूत्रों के हवाले से जो जानकारी सामने आ रही है उसे अगर सही माना जाए तो मृतक डकैत चंदन गड्रिया की हैंडवॉश (गन चलाने से हाथ पर आए बारूद के कणों की जांच) रिपोर्ट निगेटिव आई है।

इस बात का खुलासा एक पुलिस अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर करते हुए यह बताया है कि मृतक चंदन गड़रिया की हैंडवॉश रिपोर्ट निगेटिव आई है। जिसका आशय यह है कि डकैत द्वारा पुलिस पर किसी भी तरह की कोई फायरिंग नहीं की गई थी। यह रिपोर्ट सामने आने के बाद अब पुलिस महकमे में हड़कम्प पूर्ण स्थिति देखी जा रही है।

जानकारों का कहना है कि अगर यह मामला तूल पकड़ा तो तत्समय चंदन गड़रिया के कथित एन्काउंटर मामले में शामिल रहे पुलिस अधिकारी कर्मचारियों पर आपराधिक प्रकरण दर्ज होना तय है। यहां बता दें कि इस कथित एन्काउंटर के मामले में मृतक चंदन गड़रिया के परिजनों द्बारा इस पूरी घटना की शिकायत प्रदेश के ग्रह मंत्री को भी की गई थी,बताया जाता है कि इस शिकायत में शिवपुरी के एसपी रहे मोहम्मद युसूफ कुर्रेशी के साथ साथ एड़ी टीम पर चंदन गड़रिया को जिंदा पकड़कर उसकी हत्या किए जाने के साथ साथ चंदन के परिजनों पर झूठे केश लगाकर जेल भेजने की बात भी कही गई थी।

इस शिकायत में यह भी उल्लेख किया गया था कि पुलिस ने अवॉर्ड पाने के लिए चंदन का झूठा एन्काउंटर बताया है। मृतक के परिजनों द्बारा इस मामले को लेकर हाईकोर्ट में भी पिटीशन दायर की गई है जो की न्यायालय में विचाराधीन बताई जाती है।

पत्रकारों के समक्ष चंदा ने भी किया था खुलासा

हम लोग करमई के जंगल में साथ में थे,वो तो उसे जिन्दा पकड़ लिया था और 2-3 दिन बाद उसे मार दिया था उसके बाद झूठ कह दिया था कि वो गोली से खत्म हुआ है।यह खुलासा चन्दा गड़रिया ने पिछले समय उपचार के लिए जिला अस्पताल में आने के बाद पत्रकारों के सामने करते हुए पुलिस के उस कथित एन्काउंटर की पोल खोल कर रख दी थी जिसमे पुलिस द्बारा दाबा किया गया था कि एक मुठभेड़ में इनामी डकैत चंदन गड़रिया की मौत हुई है।

यहाँ बतादे की शिवपुरी के पूर्व एसपी मोहम्मद युसूफ कुर्रेशी के कार्यकाल में डकैत चंदन गड़रिया की मौत हुई थी,इस मामले को पुलिस ने जहां एन्काउंटर बताया था वही इस मामले में पुलिस पर चंदन की हत्या किए जाने का आरोप गिरोह की सदस्य रही चंदा गड़रिया ने लगाया था। चंदा गड़रिया बर्तमान में शिवपुरी जेल में बंद है पिछले दिनों चंदा की हालत बिगडऩे पर उसे उपचार हेतु जेल से जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था,इसी दौरान चंदा ने यह सनसनीखेज खुलासा किया था। जनवरी 2016 में पुलिस ने चंदन गड़रिया के एन्काउंटर किये जाने का दाबा किया था लेकिन तत्समय भी इस कथित एन्काउंटर पर तमाम सवाल खड़े हुए थे।

खुलासा के चंद मिनिटों बाद चंदा को भेज दिया गया था जेल

शिवपुरी जेल से उपचार हेतु अस्पताल में भर्ती रही चंदा गड़रिया ने जब मीडिया के समक्ष यह खुलासा किया कि चंदन गड़रिया को पुलिस ने जिन्दा पकड़कर 2-3 दिन बाद मार दिया था,उस समय इस कैदी वार्ड में पुलिसकर्मी भी मौजूद थे।

चंदा के द्बारा किये गए इस खुलासे से पूरे पुलिस महकमें में खलबली मच गई थी और आनन फानन में चन्दा को जिला अस्पताल से बापिस जेल भेज दिया गया था।

मिडिया से दूर रखा गया था गिरोह के सदस्यों को

चंदन गड़रिया की मौत के बाद पुलिस ने इस गिरोह के अन्य सदस्यों को भी पकड़ लिया था,जिस समय गिरोह के सदस्यों को पकड़ा गया था उस समय पुलिस ने गिरोह के सभी सदस्यों को मीडिया से दूर रखा था और चंदा सहित अन्य पकड़े गए सदस्यों से पत्रकारों को चर्चा नही करने दी गई थी,लेकिन चंदा गड़रिया उपचार हेतु जिला अस्पताल आई थी तो उसने यह चौकाने बाला खुलासा किया था।

चंदन मेरा प्रेमी नही भाई था

जिला अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती रही चंदा गड़रिया ने चिल्ला चिल्ला कर कहा था कि चंदन उसका प्रेमी नही था बल्कि वह उसका भाई था।चन्दा ने मीडियाकर्मियों को भी कहा था कि तुम लोग बिना जानकारी लिए खबर छापते हो और चंदन को मेरा प्रेमी लिखते हो जबकि चंदन मेरा भाई था।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *