जम्मू कश्मीर कठुआ गैंग रेप के मामले का हुआ बड़ा खुलासा सांझी राम ही निकला बच्ची का हत्यारा

कठुआ गैंग रेप – जांच एजेंसी का दावा- बेटे को बचाने के लिए मुख्य आरोपी ने रची थी बच्ची को मारने की साजिश

जांचकर्ताओं के मुताबिक सांझी राम को इस घटना की जानकारी 13 जनवरी को मिली जब उसके भतीजे ने अपना गुनाह कबूल किया।

सांझी राम ने बताया कि उसे बच्ची के अपहरण के चार दिन बाद उससे बलात्कार होने की बात पता चली और बलात्कार में अपने बेटे के भी शामिल होने का पता चलने पर उसने बच्ची की हत्या करने का फैसला किया।

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में साल जनवरी को 8 साल की बच्ची के साथ हुई बर्बरता ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। वहीं अब इस मामलें में नया खुलासा हुआ है। बच्ची से बलात्कार और उसकी हत्या मामले की जांच कर रही पुलिस ने कहा है कि आरोपियों में से एक सांझी राम ने पूछताछ के दौरान अपना गुनाह कबूल कर लिया है। सांझी राम ने बताया कि उसे बच्ची के अपहरण के चार दिन बाद उससे बलात्कार होने की बात पता चली और बलात्कार में अपने बेटे के भी शामिल होने का पता चलने पर उसने बच्ची की हत्या करने का फैसला किया।

जाँच रिपोर्ट में सामने आई बातें –

10 जनवरी को अपह्रत मासूम बच्ची से उसी दिन सबसे पहले सांझी राम के नाबालिग भतीजे ने बलात्कार किया था। बच्ची का शव 17 जनवरी को जंगल से बरामद हुआ।
नाबालिग के अलावा सांझी राम, उसके बेटे विशाल और पांच अन्य को इस मामले में आरोपी बनाया गया है।
बच्ची को एक छोटे से मंदिर के देवीस्थान  में रखा गया था जिसका सांझी राम सेवादार था।
हिंदू वाले इलाके से घुमंतू समुदाय के लोगों को डराने और हटाने के लिए यह पूरी साजिश रची गई।

जांचकर्ताओं को बताया कि उसने देवीस्था’ में पूजा की और भतीजे को प्रसाद घर ले जाने को कहा। लेकिन उसके देरी करने पर उसने गुस्से में उसे पीट दिया। हालांकि नाबालिग ने सोचा कि उसके चाचा को लड़की से बलात्कार करने की बात पता चल गई है और उसने खुद ही सारी बात कबूल कर ली।

उन्होंने बताया कि उसने अपने चचेरे भाई विशाल ,सांझी राम का बेटा , को इस मामले में फंसाया और कहा कि दोनों ने मंदिर के अंदर उससे बलात्कार किया।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *