जाने-माने साहित्यकार ने बताया खुद को रेत माफियाओं से जान का खतरा

साहित्य अकादमी पुरस्कार प्राप्त साहित्यकार उदय प्रकाश ने खुद और अपने परिवार को रेत माफियाओं से जान का खतरा बताया है ।

भोपाल: दरअसल उदयप्रकाश का पैतृक घर  अनूपपुर जिले के सीतापुर गांव में है जो सोन नदी के बिल्कुल पास है। रेत माफिया यहां से लगातार रेत का अवैध उत्खनन कर रहे हैं और रेत के ट्रक ने उदय प्रकाश की जमीन की फेंसिंग तक तोड़ डाली है ।घटना की शिकायत जब उदयप्रकाश के बेटे शांतनु ने की  तो बजाएं रेत माफिया पर कार्रवाई के पुलिस उल्टे शांतनु को थाने ले गई और उनके साथ अभद्रता की ।

उदय प्रकाश ने इस घटना की शिकायत कलेक्टर एसपी से लेकर मुख्य सचिव और डीजीपी को भी की है ।शिकायत में लिखा है कि सोन नदी का अस्तित्व रेत माफियाओं ने खत्म कर दिया है ।लगातार रेत की अवैध उत्खनन जारी है। रेत माफियाओं के इस व्यवहार से हमें और परिवार को जान का खतरा है। हमें सुरक्षा मुहैया कराई जाए। इस घटना से आहत देशभर के साहित्यकार मध्य प्रदेश सरकार की न केवल फेसबुक पर आलोचना कर रहे हैं बल्कि उदय प्रकाश और उनके परिवार की सुरक्षा की भी मांग कर रहे हैं।

 

news copuright@ Mpbreakingnews.in

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *