जिले में पहली बार शुरु हुए चलित थाने,डेढ़ सैंकड़ा समस्याओं का मौके पर हुआ निराकरण VIDEO

*दूसरा चलित थाना कोलारस के ग्राम भड़ोता में होगा संम्पन*

शिवपूरी….पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार हिंगणकर ने शिवपुरी जिले में पदभार ग्रहण करने से पूर्व ही मीडिया को बताया था कि वह जिले में आमद देने के बाद चलित थानों की शुरुआत करेगें। नवागत पुलिस अधीक्षक ने आज से जिले में चलित थानों की शुरुआत करते हुए पीडि़तों की समस्याओं का मौके पर ही निराकरण करना शुरू कर दिया है।

पहला चलित थाना आज करैरा अनुविभाग की ग्राम पंचायत टीला में लगाया गया जिसमें ग्राम पंचायत टीला, खैराई,जुझाई,निचरौली,काली पहाड़ी पंचायतों के अनेकों ग्राम वासियों ने अपनी-अपनी समस्यायें पुलिस कप्तान राजेश हिंगणकर को बताईं।पुलिस अधीक्षक ने ग्रामीणों द्वारा बताई गईं सभी समस्याओं को गंभीरता से सुना और इनका मौके पर ही निराकरण किया।

विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों से ग्रामीण अपनी समस्याओं के निराकरण के लिए परेशान होते हुए एसपी के पास आए थे। पुलिस कप्तान श्री हिंगणकर ने इन ग्रामीणों को निराश नहीं लौटने दिया। चलित थाने में आए 148 आवेदकों की सभी समस्याओं का निराकरण मौके पर ही किया गया।आज सम्पन्न हुए पहले चलित थाने में पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार हिंगणकर के अलावा एएसपी कमल मौर्य,एसडीएम करैरा श्री सिकरवार,एसडीओपी करैरा बीपी तिवारी,तहसीलदार करैरा श्रीमती आशा परमार,टीआई करैरा प्रदीप वाल्टर एवं अनुविभाग के समस्त थाना प्रभारी,स्वास्थ्य विभाग से डॉ.प्रदीप शर्मा मौजूद रहे।

आज सम्पन्न हुए चालित थाने में आये आवेदकों ने एसपी श्री हिंगणकर की इस पहल की प्रशंसा की।अगला चलित थाना अनुविभाग कोलारस के ग्राम पंचायत भड़ौता में 21 जुलाई को लगाया जायेगा।
*सबसे ज्यादा आए पंचायत संबंधित आवेदक*
जिले में आज पहली बार लगाए गए चलित थाने में डेढ़ सैंकड़ा आवेदन आए जिनका निराकरण किया गया। इन आवेदनों में 62 आवेदन पंचायत से संबंधित, जिनमें वृद्धा अवस्था पेंशन,बीपीएल कार्ड वाले आवेदन शामिल रहे। पुलिस से संबंधित 34 आवेदन राजस्व संबंधी 26,बिजली विभाग से संबंधित 22,पीडब्लूडी,सिंचाई विभाग

,वन विभाग,स्वास्थ्य विभाग से संबंधित1-1आवेदन सहित अन्य विभाग के आवेदन भी शामिल रहे।
*और जुड़ गया टूटता हुआ परिवार*
आज सम्पन्न हुए चलित थाने में एक टूटते हुए परिवार को जोड़ा गया। ग्राम रहगवाँ,मजरा हाथरस निवासी मनीराम जाटव ने पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर को बताया कि उसका छोटा भाई अच्छेलाल व उसकी पत्नी अनीता जाटव द्वारा आये दिन उसे जान से मारने की धमकी देते है और उसे घर में भी नही रहने देते है। जिस कारण से उनके घर में दरार पड़ गई है और दोनो भाईयोंं को अलग-अलग रहने की नौबत आ गई है। पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर ने इस मामले को गंभीरता से लिया और मौके पर ही एक टीम गठित कर दोनों पक्षों की काउन्सिलिंग कराकर इनके बीच समझौता कराया गया। जिससे एक टूटता हुआ परिवार फिर से जुड़ गया। इस मामले के अलावा भी ऐसे कई मामले आए जिनमें काउन्सिलिंग कराकर टूटते हुए परिवारों को जोड़ा गया।

*एसपी ने बताई चलित थाने की महत्वता*
पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर ने चलित थाने में आए आवेदकों एवं अन्य ग्रामीणों का सम्बोधित करते हुए अपने उद्बोधन में चलित थाने की आवश्यकता के बारे में बताते हुए कहा कि एक गरीब, परेशान आदमी जिले में पुलिस अधीक्षक कार्यालय जाकर किराया, आवेदन टाइप का खर्चा आदि करने में असमर्थ एवं परेशान रहता है। वह और परेशान न हो इसके लिये हमारा यह प्रयास है कि हम गाँव – गाँव जाकर चलित थाने लगाकर लोगों की समस्याओं का निराकरण मौके पर ही करें। गरीब आदमी को उचित न्याय मिल सके। लोगों की शिकायतों का मौके पर ही दोनों पक्षों की काउन्सिलिंग कराकर उसका निराकरण किया जा सके यदि अपराध पंजीबद्ध करने की आवश्यकता हुई तो मौके पर ही शून्य पर अपराध कायम किया जावेगा। साथ ही बुजुर्गों का सम्मान ही मेरी पहली प्राथमिकता रहेगी जिसमें मेरा कोई सम्मान नही होगा ये कार्यक्रम हमारा है पुलिस अधीक्षक द्वारा बुजुर्ग महिला एवं पुरूषों का माल्यार्पण कर उनका सम्मान भी किया गया।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *