झगड़ों में न उलझें,बच्चों को पढ़ा-लिखाकर बनाए अधिकारी:एसपी हिंगणकर

*-चलित थाने में एसपी ने ग्रामीणों को दी समझाईस,समस्याओं का किया निराकरण*

*-अब तक चलित थानों में पांच सैंकड़ा से अधिक समस्याओं का हो चुका है निराकरण*

शिवपुरी
शिवपुरी जिले में चलित थानों की प्रथा प्रारंभ करने वाले पुलिस कप्तान राजेश कुमार हिंगणकर आज फिर जिले के ग्रामीण अंचल में पहुंचकर ग्रामीणों से सीधे रुबरु होते हुए उनकी समस्यायें सुनने के बाद मौके पर निराकरण किया। शिवपुरी जिले के इतिहास में आज संपन्न हुआ तीसरा चलित थाना पोहरी अनुविभाग के ग्राम झिरी में लगाया गया। जिसमें दर्जनों गांव से 121 पीडि़त आवेदक पहुंचे। इन आवेदकों में पुलिस विभाग के अलावा राजस्व विभाग,बिजली विभाग,वन विभाग,स्वास्थ्य विभाग एवं ग्राम पंचायत से संबंधित शिकायती आवेदन प्राप्त हुये। अब से पूर्व कोलारस के पडोरा,करैरा के टीला में संपन्न हुए चलित थानों में पुलिस अधीक्षक द्वारा पुलिस महकमें सहित अन्य विभागों से संबंधित आए 402 आवेदनों का मौके पर ही निराकरण किया गया था। जबकि आज के चलित थाने को मिलाकर समस्याओं के निराकरण का यह आंकड़ा 523 पर जा पहुंचा है। मौके पर पीडि़तों की समस्याओं का निराकरण किए जाने के लिए चौथा चलित थाना पिछोर अनुविभाग के ग्रामीण अंचल में लगाया जायेगा। जिसमें पुलिस अधीक्षक श्री हिंगणकर के अलावा अन्य विभागों के कर्मचारी,अधिकारी भी मौजूद रहेगें।
*एसपी ने ग्रामीणों को किया जागरुक,बताएं चलित थाने के महत्व*
आप लोग छोटे-छोटे झगड़ों में न फसकर अपना धन व समय बच्चों की पड़ाई-लिखाई में लगाऐं उनको इंजीनियर,डॉक्टर,कलेक्टर और अन्य बड़े अधिकारी बनाऐं। यह बात आज तीसरे चलित थाने के दौरान पुलिस कप्तान राजेश कुमार हिंगणकर ने चलित थाने में आए परेशान लोगों को संबोधित करते हुए पोहरी अनुविभाग के ग्राम झिरी में कही। एसपी श्री हिंगणकर ने ग्रामीणों को चलित थानों का उद्देश्य बताते हुए कहा कि वह परेशान और पीडि़त लोगों के समक्ष उनसे रूबरू होकर उनकी समस्याऐं सुनने व उनका निराकरण करने के लिए आए है। एसपी श्री हिंगणकर ने कहा कि जो लोग छोटे-छोटे आपसी झगड़ों को लेकर थाने पहुंचते हैं जिससे उनका आर्थिक नुकसान होता है, जिसमें आवेदन टाईप के खर्चे से लेकर कोर्ट के फैसले तक उन पर आर्थिक मार पड़ती है। परेशान लोगों को इस आर्थिक मार से बचाने के लिए चलित थानों की शुरुआत की गई है। पुलिस कप्तान ने कहा कि चलित थानों के जरिए वह पीडि़त,परेशान लोगों के छोटे-छोटे मामलों को मौके पर ही निपटाऐं ताकि उनका कीमती समय बचने के साथ-साथ उन्हें आर्थिक रूप से भी नुकसान न हो। पुलिस कप्तान ने अपने उदबोधन में डायल-100 और सी.एम.हेल्पलाईन-181 व अन्य सुविधाओं की उपयोगिता के बारे में भी ग्रामीणों को बताया और कहा कि अगर किसी विभाग से परेशानी है। वह सही से काम नही कर रहा है तो सी.एम.हेल्पलाईन-181 डायल कर आसानी से हम अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। एसपी श्री हिंगणकर ने अपने उदबोधन में जिलेवासियों को संदेश देते हुए कहा है कि वह पारिवारिक और आपसी झगड़ों में न पड़कर अपने बच्चों की पड़ाई लिखाई पर ज्यादा ध्याान दें। यह बतादें कि एसपी राजेश कुमार हिंगणकर ने शिवपुरी जिले में पदभार ग्रहण करने के बाद से जिले में चलित थानों की नई प्रथा शुरु की है। जिसमें वह जनता के बीच जाकर उनसे संवाद कायम करते हुए समस्याओं का मौके पर ही निराकरण कर रहे है।
*मुख्य रुप से यह मामले आए सामने*
?आज चलित थाने में दु:खी होकर आई महिला कोमलबाई निवासी ग्राम झिरी ने पुलिस अधीक्षक श्री हिंगणकर को आवेदन देते हुए बताया कि उसका देवर कैलाश आए दिन उसे गाली गलौच व लड़ाई-झगड़ा करता है। महिला की बात को एसपी ने गंभीरता से सुना और तत्काल दोनों पक्षों को मौके पर बुलाकर काउंसलिंग करवाते हुए एसपी ने स्वयं दोनेां पक्षों को समझाईस दी। जिसका सुखद परिणाम यह सामने आया कि दोंनों पक्षों ने एसपी श्री हिंगणकर के समक्ष राजीनामा पेश किया।
?विनोद जाटव पिता हरि जाटव निवासी ग्राम आकुर्सी थाना पोहरी का एक अज्ञात वाहन से 6 जून को एक्सीडेंट हो गया था। इस मामले में विनोद जाटव को सहायता राशि नहीं मिली थी। पुलिस अधीक्षक ने पीडि़त की समस्या को सुनने के बाद फरियादी को राहत राशि के तौर पर 25 हजार रुपये दिलवाने के लिए कहा गया है।
?जानकीलाल जाटव निवासी झिरी ने बताया कि गांव के ही रहने वाले मुन्ना खॉ के बिजली के तारों से चिपककर उसकी भैंस मर गई थी। उसे भैंस के बदले भैंस वापस करे या पैसे दे। इस मामले में पुलिस अधीक्षक द्वारा दोनों पक्षों को बुलवाकर काउंसलिंग करवाई तो पता चला कि मुन्ना खॉं के द्वारा जानकीलाल को भैंस के बदले भैंस वापस दे दी गई है। इस मामले में दोनों पक्षों के द्वार लिखित में राजीनामा प्रस्तुत किया गया।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *