प्राइवेट कर्मचारियों को न्यूनतम वेतन नही दिया तो ,3 साल की सजा व 20 हजार का जुर्माना होगा

Share

प्रा. कर्मचारियों को न्यूनतम वेतन नही दिया तो 3 साल कैद व 20 हजार जुर्माना होगा।

दिल्ली सरकार ने कसा शिकंजा अब हुआ विधेयक पास न्यूनतम वेतन नही देने वालो पर होगी सख्त कार्यवाही
राष्ट्रपति ने दिल्ली विधानसभा द्वारा पारित न्यूनतम वेतन में संशोधन क़ानून को मंजूरी दे दी है. इस मंजूरी के बाद न्यूनतम वेतन (दिल्ली) संशोधन अधिनियम, 2017 के तहत अब दिल्ली में तय न्यूनतम मजदूरी नहीं देने वाले नियोक्ताओं पर क़ानूनी कार्रवाई की जा सकेगी.

नई दिल्ली- अमर उजाला के मुताबिक दिल्ली विधानसभा से पारित न्यूनतम वेतन (दिल्ली) संशोधन विधेयक को राष्ट्रपति की मंजूरी मिल गई है। अब दिल्ली में तय न्यूनतम मजदूरी नहीं देने वालों पर कानून का शिकंजा कसेगा। नियोक्ता के लिए 20 हजार रुपये जुर्माने के साथ तीन साल तक की सजा का भी प्रावधान है। राजधानी में न्यूनतम वेतन 13,896 रुपये है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कई महीने बाद विधेयक को मंजूरी मिली है। इससे ऐसे नियोक्ताओं पर सख्त कार्रवाई संभव होगी, जो न्यूनतम वेतन नहीं देते हैं। दिल्ली सरकार ऐसे लोगों पर कानूनन सख्त कार्रवाई करेगी।

न्यूनतम वेतन नही देने वालो के खिलाफ होगी सख्त कार्यवाही

इससे पहले बीते साल अगस्त महीने में दिल्ली विधानसभा ने विधेयक पास किया था। उस वक्त सरकार का कहना था कि अभी दिल्ली में न्यूनतम वेतन न देने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के प्रावधान नहीं थे। कानून का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए विधेयक लाना पड़ा|

ये भी पढ़ें
मनमाने बिजली के बिल देकर किसानों को जेल भेज रही है भाजपा सरकार- किसान कोंग्रेस

पहले था 500 रुपये जुर्माना का प्रावधान

इससे पहले केवल 500 रुपये जुर्माने और छह महीने तक की सजा का ही प्रावधान था। राजधानी में अकुशल मजदूरों के लिए 13,896, अर्ध कुशल के लिए 15,296, कुशल के लिए 16,858 रुपये मासिक वेतन निर्धारित है।

अब दसवीं फैल, दसवीं पास औऱ ग्रेजुएट को मिलेगा इतना वेतन

इसके अलावा दसवीं फेल के लिए 15,296, दसवीं पास के लिए 16,858 और ग्रेजुएट एवं ज्यादा शिक्षित के लिए 18,332 रुपये प्रति माह न्यूनतम वेतन है। दिल्ली कैबिनेट ने 25 फरवरी 2017 को यह दरें लागू की थीं।

समाचार पढ़ने के लिए आप लोगों का धन्यवाद समाचार आपको पसंद आया है तो कृपया लाइक औऱ करना ना भूलें.

Durgesh Gupta

Chief Editor

One thought on “प्राइवेट कर्मचारियों को न्यूनतम वेतन नही दिया तो ,3 साल की सजा व 20 हजार का जुर्माना होगा

  • June 11, 2018 at 3:49 pm
    Permalink

    Mera bharat badal raha h….

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: