फेल छात्रों को पास होने के लिए मिलेगा दो मौका

भोपाल- मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल की हाईस्कूल और हायर सेकंडरी परीक्षा में अनुत्तीर्ण विद्याथी आगे की पढ़ाई जारी रखने के लिए रुक जाना नहीं योजना के तहत परीक्षा दे सकते हैं।

अगर कोई विद्यार्थी बोर्ड की परीक्षा में फेल हो गया है तो उसे निराश होने की जरूरत नहीं है। उसके लिए राज्य मुक्त स्कूल शिक्षा परिषद की ओर से रुक जाना नहीं योजना शुरू की गई है, जिसका लाभ विद्यार्थी उठा सकते हैं।

रुक जाना नहीं योजना में विद्यार्थियों को केवल उसी विषय की परीक्षा देनी होगी, जिसमें वह फेल हुआ है। इसके लिए उन्हें दो मौके मिलेंगे। विद्यार्थी चाहे तो एक साथ फेल होने वाले विषय के पेपर दे या फिर उसे दो बार में क्लियर कर ले। इसकी परीक्षा जून और दिसंबर में होगी।

योजना के लिए आवेदन 15 मई से शुरू हो गया है जो 25 मई तक जारी रहेगा। इसकी परीक्षा 9 जून से ली जाएगी। इसमें भाग लेने वाले विद्यार्थी एमपी ऑनलाइन के कियोस्क पर जाकर निर्धारित शुल्क जमा कर पंजीयन करवा सकते हैं।

जुलाई के अंत में आएगा रिजल्ट

जून में परीक्षा देकर 10वीं फेल विद्यार्थी 11वीं में एडमिशन लेकर आगे की पढ़ाई जारी कर सकते हैं। वैसे ही 12वीं फेल विद्यार्थी भी रिजल्ट के बाद कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं। जून में होने वाली परीक्षा का रिजल्ट जुलाई के अंत तक घोषित कर दिया जाएगा।

आंकड़े एक नजर में

10वीं-फेल 189065, पूरक 85048

12वीं-फेल 108354, पूरक 81474

पूरक परीक्षाएं जुलाई में होंगी

मंडल की ओर से पूरक परीक्षा ली जाएंगी। इसमें दो विषयों में अनुत्तीर्ण परीक्षार्थियों को पूरक की पात्रता प्रदान की गई है। मंडल की ओर से 10वीं की पूरक परीक्षाएं 5 जुलाई से शुरू होंगी। वहीं 12वीं की पूरक परीक्षा 4 जुलाई को आयोजित की जाएगी। दोनों पूरक परीक्षा में करीब 1 लाख विद्यार्थी शामिल होंगे।

इनका कहना है

जून में होने वाली परीक्षा का रिजल्ट जुलाई के अंत में घोषित कर दिया जाएगा। इससे फेल होने वाले विद्यार्थियों का साल बर्बाद नहीं होगा।

– डॉ. संजय पटवा, सहायक संचालक, राज्य ओपन स्कूल

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *