मीसाबंदी और पूर्व भाजपा जिला उपाध्यक्ष जल क्रांति के समर्थन में उतरे, कलेक्टर कार्यालय के सामने धरना शुरू*

*मीसाबंदी और पूर्व भाजपा जिला उपाध्यक्ष जल क्रांति के समर्थन में उतरे, कलेक्टर कार्यालय के सामने धरना शुरू*

*सिंध जल आवर्धन योजना के पूर्ण क्रियान्वन की मांग को लेकर 45 दिन से जारी जलक्रांति धरने को भाजपा के पूर्व उपाध्यक्ष ने दिया समर्थन*

*शिवपुरी*।
शिवपुरी शहर में गहराए पेयजल संकट के बीच सिंध जल आवर्धन योजना के पूर्ण क्रियान्वयन की मांग को लेकर 45 दिनों से चल रहे धरना आंदोलन को भाजपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष और मीसाबंदी हरिहर निवास शर्मा ने भी समर्थन किया है। जल क्रांति कार्यकर्ताओं की सुनवाई ना होने से नाराज पूर्व उपाध्यक्ष हरिहर शर्मा ने सोमवार को कलेक्टर कार्यालय के सामने जल क्रांति धरना आंदोलन को समर्थन देते हुए 24 घंटे का आमरण अनशन शुरू किया।

आमरण अनशन पर बैठे मीसाबंदी और भाजपा नेता हरीहर शर्मा ने बताया कि इस परियोजना में भ्रष्टाचार करने वाले लोगों पर कार्रवाई हो, आज शहर में हालात यह हैं कि लोग अपना काम धंधा छोड़ कर हाथ में कटी लेकर पीने के पानी के लिए परेशान हो रहे हैं। श्री शर्मा ने मांग करते हुए कहा कि जल क्रांति के आंदोलन कर्ता जिस मांग को लेकर धरना दे रहे हैं उस पर जिला प्रशासन और जिम्मेदार अधिकारी लिखित रूप में आश्वासन दें।

*पहले भाजपाई जो खुल कर मैदान में आए*
भाजपा के पूर्व उपाध्यक्ष हरिहर शर्मा ऐसे पहले भाजपाई नेता हैं, जो खुलकर सिंध जल आवर्धन योजना में किए गए भ्रष्टाचार को लेकर आंदोलन के मूड में है।आमरण अनशन पर बैठे हरिहर शर्मा पूर्व में शिवपुरी की विधायक यशोधरा राजे सिंधिया के काफी खास रह चुके हैं और पिछले काफी दिनों से फेसबुक पर सिंध जल आवर्धन योजना को लेकर अपनी तीखी प्रतिक्रियाएं व्यक्त कर चुके हैं। साथ ही पूर्व में उन्होंने मध्य प्रदेश के कई मंत्रियों को भी फेसबुक पर कमेंट कर निशाने पर लिया है। अब देखना यह है कि हरिहर शर्मा इस आमरण अनशन से सत्ताधारी दल को कितना झुका पाते हैं।

*45 दिन से जारी है जलक्रांति का धरना*
पिछले 45 दिन से शिवपुरी में सिंध जल आवर्धन योजना के पूर्ण क्रियान्वन और इस योजना में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर जल क्रांति आंदोलन कर्ता शहर के माधव चौक चौराहे पर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। इन आंदोलन कर्ताओं की मांग है कि शिवपुरी में सिंध जल आवर्धन योजना का जल्द से जल्द क्रियान्वन हो और घर-घर तक पाइपलाइन के जरिए पानी पहुंचाया जाए। गौरतलब है कि इस समय शिवपुरी में पेयजल संकट गंभीर रूप धारण कर चुका है। गर्मी में शहर के 100 से ज्यादा नलकूप भूमिगत जलस्तर में आई कमी के कारण बंद हो गए हैं। वहीं दूसरी ओर सिंधु जल आवर्धन प्रोजेक्ट पूरा ना हो पाने के कारण बार बार इस प्रोजेक्ट के लिए डाली गई पाइप लाइन फूट रही है और बार बार लाइन फूटने से पानी की सप्लाई भी नियमित नहीं है।इसके अलावा इस प्रोजेक्ट में प्रत्येक घर तक पाइप लाइन के जरिए पानी पहुंचाने का जो लक्ष्य रखा गया था वह आज तक अधूरा पड़ा है।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *