लाड़ली लक्ष्मी' के बाद अब 'लाड़ला कान्हा' योजना…

भोपाल….मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सरकार अब लाड़ली लक्ष्मी योजना की तर्ज पर लाड़ला कान्हा योजना बनाएगी। शनिवार की रात रतलाम के बाजना गांव में आदिवासियों की मांग पर मुख्यमंत्री ने यह घोषणा की। दरअसल, एक आदिवासी ने मुख्यमंत्री को बताया कि लाडली लक्ष्मी योजना उनके समाज के लिए सही नहीं क्योंकि उनके यहां बेटी नहीं बल्कि बेटा दहेज देता है। इस पर सीएम शिवराज ने कहा कि दहेज लेना और देना दोनों ठीक नहीं, यह कानूनी रूप से गलत है। लेकिन सरकार लाङला कान्हा योजना लेकर आएगी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर अपनी उर्जा का राज बताते हुए कहा कि मैं 3 से 4 घंटे सोने के बाद भी उर्जावान इसलिए रहता हूं क्योंकि मैं सरकारी कार्यक्रमों में बेटियों के पैर धोकर उसका पानी माथे पर लगाता हूं जिससे मुझे हमेशा ऊर्जा मिलती है। जिस धरती पर बेटियों और बहनों का अपमान होता है वह धरती कभी सुखी नहीं रह सकती। बेटियों को पढ़ाई लिखाई और अच्छी शिक्षा दें और अगर कोई बाधा आती है तो मामा हमेशा साथ खड़ा है|

*लाङली लक्ष्मी योजना के ये है लाभ*

1…(Ladli Lakshmi Yojna) लाड़ली लक्ष्मी योजना के अंतर्गत बालिका के नाम से, पंजीकरण के समय से लगातार पांच वर्षों तक 6-6 हजार रूपए मध्यप्रदेष लाड़ली लक्ष्मी योजना निधि में जमा किये जाऐगें

2..लाड़ली लक्ष्मी योजना की कुल राशि 30000 रूपए बालिका के नाम से जमा किये जाऐगें।

3..बालिका के कक्षा 6 में प्रवेश लेने पर रू.2000, कक्षा 9 वीं में प्रवेश लेने पर रू.4000, कक्षा 11 वीं में प्रवेश लेने पर रू.6000 रूपए दिए जाएगे |

4..इस योजना के अंतर्गत 12वीं कक्षा में प्रवेश लेने पर रू.6000 ई-पेमेंट के माध्यम से किया जावेगा।

5..इस योजना का अंतिम भुगतान रूपये 1 लाख बालिका की आयु 21 वर्ष होने पर तथा कक्षा 12 वीं परीक्षा में सम्मिलित होने पर भुगतान की जावेगी, किन्तु शर्त यह होगी कि बालिका का विवाह 18 वर्ष की आयु के पहले नहीं होना चाहिए अगर आप इससे पहले बालिका का विवाह करते है तो आप इस योजना का बाकि बचा हुआ पैसा नहीं ले पाएगे ।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *