शहादत से पहले पत्नी से फोन पर ये बात हुई थी, होली पर बेटी का रिश्ता लेकर गए थे

छत्तीसगढ़ के सुकमा में मंगलवार को नक्सली हमले में शहीद होने से एक घंटे पहले सीआरपीएफ के एएसआई रामकिशन सिंह तोमर ने पत्नी प्रभा से फोन पर बात की थी। उन्होंने पत्नी से कहा था कि आज बेटी पिंकी का बर्थ-डे है, घर पर ही धूमधाम से मनाना|
उन्होंने फोन रखने से पहले पत्नी से कहा था कि अब नक्सली एरिया में प्रवेश कर रहे हैं, नेटवर्क न होने के कारण फोन कट सकता है। इसलिए अब शाम को फोन लगाऊंगा। परिजन शाम को फाेन का इंतजार कर रहे थे कि इसी बीच शहीद होने की खबर मिली। शहीद का अंतिम संस्कार बुधवार को उनके पैतृक गांव तरसमा में किया जाएगा
भिंड के चतुर्वेदी नगर में रहने वाले सीआरपीएफ के कांस्टेबल जितेंद्र सिंह कुशवाह छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले में शहीद हो गए
दो दिन पहले ही छुट्टी मनाकर वापस ड्यूटी पर पहुंचे थे। वह होली का त्योहार मनाने के लिए 25 दिन की छुट्टी पर आए थे।
बुधवार को सैनिक सम्मान के साथ भिंड में उनकी अंत्येष्टि की जाएगी। जितेंद्र ने वर्ष 2005 में 13 साल पहले सीआरपीएफ की नौकरी ज्वाइन की थी
आठ साल पहले उनकी शादी सोनम के साथ हुई थी। उनके तीन बच्चे हैं, जिसमें दो बेटी एक बेटा है।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *