शिवपुरी के सभी पुलिस थानों में मनाया बालिका दिवस , भय मुक्त रहे बालिकाएं -एस पी सुनील पांडे

शिवपुरी के सभी पुलिस थानों में मनाया बालिका दिवस , भय मुक्त रहे बालिकाएं -एस पी सुनील पांडे
शिवपुरी- आज बालिका दिवस के शुभ अवसर पर शिवपुरी के सभी पुलिस थानों शिवपुरी कोतवाली , फिजिकल थाना , एवं देहात थाना में बालिका दिवस मनाया गया ! जिसमे मुख्य अतिथि पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पांडे थे , साथ ही एडिशनल sp कमल मौर्य ,आर.आई. अरविंद सिंह सिकरवार ,फिजिकल थाना प्रभारी विकाश यादव ,

महिला एवं बाल विकास के पांडे जी अजय गौतम , एडवोकेट गजेंद्र यादव फिजिकल थाने पर उपस्थित रहे ।

सर्व प्रथम मुख्य अतिथि का माल्यार्पण कर स्वागत किया !

राष्ट्रिय बालिका दिवस पर हुआ जन संवाद का आयोजन बालिकाओ को दी गई कानून की जानकारी

फिजिकल थाना परिसर में उपस्थित बालिकाएं एवं महिलाओ की उपस्थ्ति में यह कार्यक्रम का आयोजन किया गया ! इसके उपरांत अपने उद्बोधन में श्री पांडे ने कहा मुझे ख़ुशी इस बात की है की प्रियंका के रूप में पूरा हुआ बालिका दिवस ! बालिकाएं भय मुक्त रहे पुलिस से डरे नहीं ,हम पुलिस वालो के यहाँ भी बहिन बेटी है हम अच्छे से समझ सकते है

आपकी पीड़ा निसंकोच होकर बताये अपनी समस्या पुलिस को , ये न सोचे हमारी मर्यादा क्या रहेगी लोक लाज के डर से संकोच न करे , निसंकोच भयमुक्त होकर शिकायत करे ! हम आपके साथहै आपकी सुविधा के लिए 100 डॉयल पर कॉल
कर सकते है , व्हाट्सप्प ग्रुप भी बनाया गया है ! उस पर भी आप हमे सूचित कर सकते है ! गुड टच एवं बेड टच के बारे में विडिओ प्रोजेक्टर के माध्यम से बालिकाओ को शॉर्ट फिल्म दिखाई गई ,एवं यू टूब पर भी इनसे सम्बन्धी काफी विडिओ मौजूद है ! एस पी श्री पांडे ने कहा महिलाओ बच्चीओ के साथ गलत होता है तो निसंकोच बताये ! बहुत से कानून आपके लिए है !

क्यों मनाया जाता है बालिका दिवस

राष्ट्रीय बालिका दिवस 24 जनवरी को मनाया जाता है। 24 जनवरी के दिन इंदिरा गांधी को नारी शक्ति के रूप में याद किया जाता है। इस दिन इंदिरा गांधी पहली बार प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठी थी इसलिए इस दिन को राष्ट्रीय बालिका दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया है। यह निर्णय राष्ट्रीय स्तर पर लिया गया है। आज की बालिका जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में आगे बढ़ रही है चाहे वो क्षेत्र खेल हो या राजनीति, घर हो या उद्योग। राष्ट्रमण्डल खेलों के गोल्ड मैडल हो या मुख्यमंत्री और राष्ट्रपति के पद पर आसीन होकर देश सेवा करने का काम हो सभी क्षेत्रों में लड़कियाँ समान रूप से भागीदारी ले रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *