सिंचित क्षेत्र विकसित होने से फसल उत्पादन में वृद्धि हुई

शिवपुरी / / शिवपुरी जिले में मड़ीखेड़ा बांध अटल सागर बनने से शिवपुरी, दतिया और ग्वालियर जिले के 98 हजार हेक्टर क्षेत्र में सिंचाई हो रही है, सिंचित क्षेत्र में किसानों को नहरों से अपने खेतों में पानी लगाने के लिए नाली बनाने में बहुत परेशानी होती थी । केंद्र सरकार ने त्वरित सिंचाई लाभ योजना मद से प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना के अंतर्गत कमांड एरिया विकास कार्यों की स्वीकृति देकर कृषकों द्वारा गठित जल उपभोक्ता संस्थाओं के माध्यम से खेत नालियों का निर्माण कराया है ।

इन खेत नालियों के कार्यों का निरीक्षण गत दिवस मध्य प्रदेश शासन जल संसाधन विभाग के कमांड एरिया डेवलपमेंट के कमिश्नर श्रीयुत श्रीकांत दांडेकर ने किया, अपने तीन दिवसीय प्रवास में उन्होंने ग्वालियर जिले में हरसी उच्च स्तरीय नहर के कमांड क्षेत्र के कार्य एवं शिवपुरी जिले के करेरा एवं नरवर संभागों के कार्यों का निरीक्षण किया,उनके साथ अधीक्षण यंत्री श्री एस के श्रीवास्तव और कार्यपालन यंत्री श्री ए के व्यास ने भी कार्यों के मेजरमेंट और गुणवत्ता का बारीकी से निरीक्षण किया । करेरा संभाग की बनगंवा, बाँसगढ़ और राजपुर संस्थाओं के कार्यों का निरीक्षण किया एवं नहरों की लाइनिंग के प्रस्ताव स्वीकृत कराने के निर्देश भी दिए ।

संस्थाओं के अध्यक्ष श्री हाकिम सिंह रावत और जगत सिंह कुशवाह के साथ कृषकों से भी चर्चा की, जल उपभोक्ता कृषकों द्वारा कमिश्नर महोदय को बताया गया कि खेत नालियां बनने से उन्हें बहुत लाभ हुआ है, उनके खेतों में फसलों को आसानी से पानी मिलने लगा है, जिससे उनकी फसल का उत्पादन डेढ़ से दो गुना तक बढ़ गया है । राजपुर संस्था के कार्यों की प्रशंसा करते हुए उन्होंने अध्यक्ष हाकिम सिंह रावत की लगनशीलता की सराहना करते हुए राजपुर संस्था के कमांड क्षेत्र में वृद्धि के प्रस्ताव की मंजूरी का आश्वासन भी दिया ।

नरवर संभाग की छितरी एवं नरौआ संस्थाओं के कार्यों का भी निरीक्षण किया गया । मोहिनी बांध पर संस्थाओं के अभिलेखों की जांच उपरांत बांध और मुख्य नहर का निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश अधिकारियों को दिए । निरीक्षण के दौरान परियोजना प्रशासक श्री ए के त्रिपाठी, अधीक्षण यंत्री श्री राजेश श्रीवास्तव, कार्यपालन यंत्री श्री बी डी रतमेले, श्री एम एस परस्ते, सभी अनुविभागीय अधिकारी एवं उपयंत्री भी उपस्थित थे ।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *