​बदरवास में बनाई जाने वाली जैकेटों के ब्रांड एंबेसडर बनेंगे सीएम शिवराज

एक करोड़ से ज्यादा का टर्नओवर है जैकेट कारोबार का
दिल्ली,आगरा से लेकर मुंबई तक में प्रसिद्ध है बदरवास की जैकेट

शिवपुरी

शिवपुरी जिले के बदरवास में बनाई जाने वाली जैकेटों को पहचान देने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इन जैकैटों के ब्रांड एंबेसडर बनेंगे। इस बात की घोषणा शनिवार को कोलारस में एक आमसभा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंंह चौहान ने की। कोलारस में हितग्राही सम्मेलन मेें भाग लेने के लिए आए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बदरवास में अच्छी जैकेटें बनाई जाती हैं इसलिए इन जैकेटों का कारोबार और बढ़े इसलिए वह खुद इन जैकेटों की ब्रांडिंग का काम करेंगे। इसके अलावा सीएम शिवराज ने कहा कि आजीविका मिशन की स्वसहायता समूहों की महिलाओं द्वारा निर्मित सामग्री ब्राण्डेड कंपनियों से कम नहीं है। इनके द्वारा बनाई गई सामग्री पूर्ण रूप से शुद्ध होने के साथ-साथ मिलावटी नहीं है। स्वसहायता समूह द्वारा निर्मित उत्पादों की इंटरनेशनल मार्केटिंग की जाएगी और में इनका ब्रांड एम्बेसडर रहूँगा।

महिला समूहों को दिया जाएगा बढ़ावा

आजीविका मिशन सेल्प-हेल्प ग्रुप (स्वसहायता समूह) प्रदेश में अद्भूत संगठन बन रहा है। इन समूहों को बैंको से जोड़ा जा रहा है। इनके द्वारा निर्मित साबुन एवं अन्य उत्पादों को वे प्रदेश में ब्राण्ड एम्बेसडर बनकर प्रचार करेंगे। स्वसहायता समूहों द्वारा निर्मित उत्पादों के लिए महानगरों में स्थित बिग बाजार जैसे मॉलस् में भी स्थान देकर बिक्री की व्यवस्था की जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज शिवपुरी जिले के कोलारस तहसील मुख्यालय पर स्वसहायता समूह एवं हितग्राही सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने विभिन्न योजनाओं में 7 हजार 643 हितग्राहियों को 15 करोड़ 60 लाख की सहायता राशि प्रदाय की। इस दौरान जिले के प्रत्येक विकासखण्ड मुख्यालय पर 40 लाख की लागत से बनने वाले आजीविका भवन सहप्रशिक्षण केन्द्र का भी भूमिपूजन किया। कोलारस में होने वाले उपचुनाव से पहले आयोजित इस हितग्राही सम्मेलन में शनिवार को जलसंसाधन एवं जनसंपर्क मंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्र, राजस्व मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता, मछुआ कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष राजू बाथम, विधायक पोहरी प्रहलाद भारती, हजूर विधानसभा क्षेत्र के विधायक रामेश्वर दयाल शर्मा, म.प्र.भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रणवीर रावत, भाजपा जिलाध्यक्ष सुशील रघुवंशी, पूर्व विधायगण सर्वश्री भैया साहब लोधी, देवेन्द्र जैन, नरेन्द्र बिरथरे, ओमप्रकाश खटीक, वीरेन्द्र रघुवंशी, माखनलाल राठौर, रमेश खटीक, पूर्व विधायक एवं नगर पालिका परिषद गुना के अध्यक्ष श्री राजेन्द्र सालुजा, कलेक्टर श्री तरूण राठी, पुलिस अधीक्षक श्री सुनील कुमार पाण्डे सहित जनप्रतिनिधि, स्वसहायता समूहों की महिला सदस्य, हितग्राही एवं जनसामान्य उपस्थित थे। 

स्वसहायता समूहों के होंगे सम्मेलन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि आजीविका मिशन के स्वसहायता समूहों का सम्मेलन इसके पूर्व भोपाल में आयोजित किया जा चुका है। इस प्रकार के सम्मेलन सभी जिलों में आयोजित होगें। उन्होंने कहा कि स्वसहायता समूहों की महिलाओं द्वारा जो सामग्री एवं उत्पाद बनाए गए है। वे गुणवत्ता के मामले में ब्राण्डेड कंपनियों के उत्पादों से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि आजीविका मिशन की महिलाओं द्वारा जो साबुन निर्मित किया गया है। उस साबुन में समूहों की महिलाओं की मेहनत एवं पसीने की खुशबू है, जबकि ब्राण्डेड कंपनी द्वारा निर्मित साबुनों में यह चीज नहीं है। श्री चौहान ने कहा कि स्वसहायता समूह की महिलाओं के द्वारा मूंगफली की चिक्की, एलईडी बल्ब एवं बदरवास के आस-पास जो सुंदर जैकेटों का निर्माण किया जा रहा है, अगर इन जैकेटों की सही मार्केटिंग की जाए, तो ये जैकेटे पूरी दुनिया में छा जाएगी। उन्होंने कहा कि स्वसहायता समूहों के माध्यम से निर्मित सामग्री से प्राप्त होने वाली राशि से महिलाओं के परिवार की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। 

गणवेश एवं पोषण आहार सप्लाई करेंगे 

मुख्यमंत्री ने होशंगाबाद जिले के केसला ग्राम के स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा संचालित पाल्ट्री फार्म उद्योग की सराहना करते हुए कहा कि इस उद्योग के माध्यम से समूह द्वारा प्रतिवर्ष 300 करोड़ का टर्नऑवर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सेल्प-हेल्प ग्रुपों को और मजबूत किया जाएगा। समूह की महिला सदस्यों को स्टाम्प ड्यूटी माफ की जाएगी। समूह की महिलाओं को प्रशिक्षण प्रदाय किए जाने हेतु प्रत्येक विकासखण्ड मुख्यालय पर आजीविका भवन बनाए जाएगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले वर्ष से स्कूली बच्चों को दी जाने वाली गणवेश का निर्माण कार्य भी आजीविका मिशन के स्वसहायता समूहों के माध्यम से कराया जाएगा। इसके साथ ही आंगनवाड़ी केन्द्रों में प्रदाय किए जाने वाले पोषण आहार का निर्माण कर महिलाओं को रोजगार प्रदाय किया जाएगा और ठेकेदारी की प्रथा को भी अलग किया जाएगा। उन्होंने स्वसहायता समूह की महिलाओं से आग्रह किया कि रेत की नीलामी भी स्वसहायता समूह आगे आए। श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश के सभी 51 जिलों में दो जिलो पर विभिन्न उत्पादों की फैक्ट्रियां स्वसहायता समूहों के माध्यम से शुरू की जाएगी। इसके लिए समूह की महिलाओं को प्रशिक्षण देने के साथ-साथ आर्थिक सहायता एवं सलाहकार की भी सेवाए उपलब्ध कराई जाएगी। 

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *