देश -विदेश से आते है श्रद्धालु, मन की मुराद पूरी करने, 200 वर्ष प्राचीन श्री गणेश जी पर..

देश और दुनिया मे मशहूर है शिवपुरी जिले की पोहरी तहसील में सिंधिया स्टेट के दुर्ग पर स्थित है

यह प्राचीन श्री गणेश मंदिर महाराष्ट्र, आंध्र,असम,मेघालय आदि प्रान्तों देश विदेश इंग्लैंड जापान ,नेपाल भूटान से आते है मुराद मांगने श्रदालु भक्तगण

हितेश जैन पोहरी– शिवपुरी जिले की पोहरी तहसील के किले में वसा प्राचीन गणेश मंदिर जो लगभग 200 वर्ष प्राचीन है पोहरी दुर्ग सिंधिया स्टेट के अंतर्गत आता था जो उस समय के जागीरदारनी बाला बाई सीतोले हुआ करती थीं। उन्होंने 1737 में इस मंदिर का निर्माण कराया था

नारियल में श्रद्धा भाव रख कर मन्नत माँगते है हजारो भक्त

इस मंदिर में जो भी भक्त लोग नारियल रखकर जो मनोकामना मांगते है वो पूरी हो जाती है इसलिए ग्रामीण क्षेत्र में बसा होने के बाद भी यहाँ भक्तों का ताँता लगा रहता है इस कारण देश के तो भक्त आते ही है विदेश से भी भक्तों का यहाँ आना लगा रहता है।

खंडालकर परिवार के लोग करते मन्दिर में सेवा

अब इस मंदिर की देखभाल का जिमा खण्डालकर परिवार के हाथ में है खंडालकर परिवार के पूर्वज इस मंदिर की पूजा एवं देखभाल बर्षों से कर रहे है अजय खंडालकर जो मंदिर के पुजारी है उन्होंने बताया कि यहाँ पर जो भी भक्त अपनी भक्ति एवं मन से गणेश जी के सामने मन्नत मांगकर नारियल रखता है तो उसकी मन्नत जरूर पूरी होती है।

देश विदेश से आते है दर्शन लाभ लेने भक्तजन ,मन्नत पूरी होने पर कई भक्त करते है कन्या भोज

लोगों द्वारा मन्नत पूरी होने के बाद भी मंदिर जी में आते है और बताते है कि हमने जो मन्नत मांगी थी वो इच्छा पूर्ति गणेश जी ने पूरी कर दी यहाँ पर महाराष्ट्र, नासिक, बॉ बे, पूणे, बैंगलोर,दिल्ली, ग्वालियर आदि जगह के भक्त तो आते हैं विदेश से भी इंगलैंड, अमेरिका और कनाडा आदि जगह के भक्त भी मनोकामना मांगने एवं दर्शन करने आते हैं हर बुधवार को यहाँ भक्त लोग दर्शन करने आते है औऱ बोली हुई मन्नत पूरी होने पर कन्या भोज, गोठ , श्री गणेश जी को पोसाक के रूप में चढ़ावा भी चढ़ाते हुए मन्दिर में दान करते है भक्तगण।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *