मध्यप्रदेश में फिर से भारी बारिश के आसार, इन जिलो में अलर्ट

मानसूनी सीजन तो 30 दिसंबर को खत्म हो गया है लेकिन प्रदेश के कई इलाकों में अभी भी लगातार भारी बारिश हो रही है मौसम विभाग की माने तो आने वाले दिनों में हालात ऐसे ही रहेंगे और रुक-रुक कर तेज और हल्की बारिश जारी रहेगी इतिहास में पहली बार मौसम विभाग ने मध्य प्रदेश मैं अक्टूबर तक मानसून रहने के संकेत दिए हैं

हालांकि बीते सितंबर तक प्रदेश में औसत से 43 फ़ीसदी ज्यादा बारिश दर्ज की जा चुकी है वहीं मौसम विभाग ने कई जिलों में भारी बारिश की आशंका जताई है

इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

स्थानीय मौसम केंद्र के मुताबिक रीवा, सतना टीकमगढ़, पन्ना छतरपुर ,अशोकनगर, दतिया में भारी बारिश हो सकती है वही सिंगरौली ,सागर, दमोह, उज्जैन ,नीमच, रतलाम ,शाजापुर ,देवास, मंदसौर, ग्वालियर ,शिवपुरी श्योपुर, भिंड ,भोपाल ,रायसेन, राजगढ़, विदिशा, धार ,इंदौर, खंडवा खरगोन ,अलीराजपुर ,झाबुआ ,बड़वानी, बुरहानपुर होशंगाबाद, बेतूल, हरदा ,उमरिया, अनूपपुर, शहडोल डिंडोरी, छिंदवाड़ा ,जबलपुर ,मंडला ,बालाघाट, नरसिंहपुर और कटनी जिले में गरज चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं
मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार वैसे तो सामान्य तौर पर मध्य प्रदेश से मानसून की विदाई हो जानी थी लेकिन गुजरात के तटीय इलाकों में कम दबाव क्षेत्र सक्रिय है जिसके कारण मध्यप्रदेश में भी बारिश का सिलसिला जारी है हवा का रुख प्रदेश की ओर होने के कारण मानसूनी बादलों की सक्रियता प्रदेश में बढ़ रही है

6 राज्यों में ऑरेंज अलर्ट

भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक उत्तरी गुजरात और इससे सटे राजस्थान के भागों पर बना डिप्रेशन द्वारा गुरुवार को असर दिखा सकता है 24 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से पूर्वी और उत्तर पूर्वी दिशा में मानसून बढ़ रहा है यह सिस्टम अब पश्चिमी मध्य प्रदेश के काफी करीब पहुंच गया है यह सिस्टम कमजोर होकर नेम दबाव में बदल जाएगा मौसम विभाग के मुताबिक देश के 6 राज्यों मध्य प्रदेश राजस्थान गुजरात उड़ीसा आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

खोड़ हॉस्पिटल में मनाया गया स्वच्छता अभियान

Wed Oct 2 , 2019
हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोड़ पर स्वच्छता दौड़ कार्यक्रम अंतर्गत 2 अक्टूबर को संस्था पर स्वच्छता अभियान चलाया गया जिसमे भर्ती मरीजों को स्टाफ द्वारा कपड़े के थैले भेंट किए गए तथा मरीज एवं परिजनों को स्वच्छता एवं पॉलीथिन उपयोग न करने की शपथ दिलाई गई । […]