लोकसभा निर्वाचन के संबंध में राजनैतिक दलों की बैठक सम्पन्न, 16 अप्रैल से नाम निर्देशन पत्र शिवपुरी में दाखिल होंगे

राजनैतिक दल एवं उम्मीदवार आदर्श आचरण संहिता का पूर्णतः पालन करें-श्रीमती अनुग्रह पी

लोकसभा निर्वाचन के संबंध में राजनैतिक दलों की बैठक सम्पन्न 16 अप्रैल से नाम निर्देशन पत्र शिवपुरी में दाखिल होंगे

शिवपुरी| कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती अनुग्रहा पी ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा लोकसभा आम निर्वाचन 2019 हेतु आयोग द्वारा जारी आदर्श आचरण संहिता का पूर्ण रूप से पालन करें।

आमसभा, रैली, हवाई पट्टी आदि के लिए विधिवत रूप से आवेदन कर पहले आओ पहले पाओं की तर्ज पर अनुमति प्राप्त कर सकेंगे। कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने उक्त आशय की जानकारी लोकसभा आम निर्वाचन 2019 हेतु गठित जिला स्तरीय स्टेडिंग कमेटी की बैठक में उपस्थित राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों को दी।

कलेक्टर सभाकक्ष में आज आयोजित स्टेडिंग कमेटी की बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री राजेश हिंगणकर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री गजेन्द्र सिंह कंवर, उपजिला निर्वाचन अधिकारी श्री मकसूद अहमद, सहायक रिटर्निंग आॅफिसर शिवपुरी श्री अतेन्द्र सिंह गुर्जर, कोलारस श्री आशीष तिवारी, करैरा श्री ए.क.ेवाजपेयी, पिछोर श्री यू.एस.सिकरवार, पोहरी श्री मुकेश सिंह सहित कांग्रेस के महामंत्री श्री हरवीर सिंह रघुवंशी, भाजपा के श्री ओमप्रकाश शर्मा, बसपा के जिलाध्यक्ष श्री धनीराम चैधरी, श्री अशरफ जाफरी, भाजपा के डाॅ.राकेश राठौर आदि उपस्थित थे।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती अनुग्रहा पी ने बैठक में बताया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा लोकसभा निर्वाचन हेतु कार्यक्रम जारी होते ही आदर्श आचरण संहिता लागू कर दी गई है। आदर्श आचरण संहिता का राजनैतिक दल एवं उम्मीदवार पूर्ण रूप से पालन करें।

ऐसा कोई कार्य न किया जाए। जिससे आर्दश आचरण संहिता का उल्लंघन हो।

उन्होंने कहा कि चुनाव प्रचार हेतु आयोजित होने वाली सभाओं, रैलियों, हेलीपेड, हवाई पट्टी, लाउण्ड स्पीकर का विधिवत रूप से अनुमति लें।

यह अनुमति पहले आओ पहले पाओं की तर्ज पर संबंधित अनुविभागीय अधिकारी राजस्व के कार्यालय में आवेदन करने पर दी जाएगी। इसके लिए विधिवत रूप से प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में पंजी संधारित की जाएगी। जबकि हवाई पट्टी की अनुमति अपर कलेक्टर शिवपुरी द्वारा दी जाएगी।

इसके साथ ही इन अनुमतियों के लिए सुविधा एप पर आवेदन कर सकेंगे। 

उन्होंने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्वाचन कार्यक्रम के तहत शिवपुरी-गुना संसदीय क्षेत्र में 16 से 23 अप्रैल तक जिला मुख्यालय शिवपुरी में नाम निर्देशन पत्र प्राप्त किए जाएगें।

24 अप्रैल को प्राप्त नाम निर्देशन पत्रों की समीक्षा होगी। 26 अप्रैल 2019 तक उम्मीदवार अपने नाम वापस ले सकेंगे। 12 मई को मतदान होगा और 23 मई 2019 को मतगणना होगी। श्रीमती अनुग्रहा पी ने बताया कि मतदान केन्द्रों के संबंध में जानकारी लेते हुए 1950 हेल्पलाईन नम्बर दिया गया है।

जिसपर 24 घण्टे कर्मचारी रहेंगे, जो जानकारी दे सकेंगें। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि फार्म 26 में संशोधन किया गया है। अब शपथपत्र का एक पृष्ठ होगा। जिसके सभी काॅलम भरना होंगे। कोई भी काॅलम खाली नहीं छोड़ना होगा। नाम निर्देशन पत्र ऐसे भरे जाए, इसके लिए नाम निर्देशन पत्र जमा करने के पूर्व राजनैतिक दलों को जानकारी देते हेतु प्रशिक्षण भी प्रदाय किया जाएगा। जिससे कोई भी नाम निर्देशन पत्र अपूर्ण न रह सके।

मतदाता को वोटर स्लिप के साथ एक फोटोयुक्त पहचान पत्र साथ लाना होगा

कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदाताओं को मतदान वाले दिन वोटर स्लिप के साथ अपनी पहचान के संबंध में आयोग द्वारा निर्धारित फोटो युक्त मतदाता पहचान पत्र राशनकार्ड, आधारकार्ड, ड्रायविंग लायसेंस आदि जैसे पहचान पत्र साथ में लाना होगा। इस संबंध में सभी राजनैतिक दल अपने बूथ लेवल अभिकर्ता के माध्यम से मतदाताओं को जानकारी दें।

उन्होंने बताया कि उम्मीदवारों को आपराधिक प्रकरणों के संबंध में इस बार दो प्रमुख समाचार पत्रों एवं दो समाचार चैनलों में तीन बार स्वयं के व्यय पर नाम वापसी के अगले दिन से मतदान के दो दिन पूर्व तक प्रकाशित कराना होगा। कलेक्टर ने बताया कि जिले के सभी हाॅट बाजार एवं मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं को ईव्हीएम एवं वीवीपेट के प्रति जागरूक करने हेतु प्रदर्शन किया जा रहा है।

उन्होनंे बताया कि आयोग ने लोकसभा निर्वाचन में ईको फ्रेण्डली प्रचार-प्रसार पर विशेष जोर दिया है। इसके लिए राजनैतिक दल कम से कम प्लास्टिक की सामग्री का उपयोग करें। इसके स्थान पर कपड़े से बनी हुई प्रचार-सामग्री का उपयोग किया जाए। 

उन्होनंे बताया कि उम्मीदवारों एवं राजनैतिक दलों को प्रचार-प्रसार के लिए बल्क में भेजे जाने वाले एसएमएस का जिला स्तरीय एमसीएमसी कमेटी से पूर्व प्रमाणीकरण कराना आवश्यक होगा। इसी प्रकार इलेक्ट्रोनिक मीडिया में प्रसारण के पूर्व एवं पिं्रट मीडिया में मतदान के 48 घण्टे पहले विज्ञापनों का पूर्व प्रमाणीकरण कराना होगा।

कलेक्टर ने बताया कि जिले में मतदाता संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान 21 हजार 135 मतदाताओं की वृद्धि हुई है। जबकि जिले में कुल 11 लाख 56 हजार 478 मतदाता है। इनके लिए 1477 मतदान केन्द्र बनाए गए है। 

बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री राजेश हिंगणकर ने बताया कि लोकसभा चुनाव को दृष्टिगत रखते हुए जिले में 15 एफएसटी टीम, 10 अंर्तजिला नाके एवं 05 अंतरराज्र्यीय नाके बनाए गए है। जिसमें 05 अंतरराज्र्यीय नाकों पर सीसीटीव्ही कैमरों से निगरानी आज से शुरू हो गई है। वाहनों की भी सघन जांच की जाएगी। उन्होंने बताया कि जांच के दौरान 50 हजार से अधिक की राशि प्राप्त होने पर कार्यवाही की जाएगी। 

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *