म.प्र. के भोपाल, गुना, नीमच सहित 21 जिलो में भारी वारिश की चेतावनी

भोपाल। मध्यप्रदेश में बीती रात से लगातार हो रही बारिश से कई नदी-नाले उफान पर हैं। मौसम विभाग के मुताबिक राज्य में भोपाल, आगर मालवा, शाजापुर, राजगढ़, छतरपुर, सागर, दमोह, अशोकनगर, गुना, नीमच, मंदसौर, मंडला, बालाघाट, सिवनी, जबलपुर, डिंडोरी, बैतूल, होशंगाबाद, खंडवा, उज्जैन, देवास, बड़वानी जिलों में अगले 24 घंटे में भारी बारिश हो सकती है। वहीं, 11 जुलाई को पूरे मध्यप्रदेश में 16.6 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई, जो कि सामान्य से 72% ज्यादा है। वहीं, प्रदेश में इस सीजन में अब तक 207.2 मिमी बारिश हो चुकी है। जो सामान्य से 6% कम है।
मप्र में अब तक कहां क्या हुआ
भोपाल में भारी बारिश के चलते निचली बस्तियों में पानी भर गया।
भोपाल की होशंगाबाद रोड स्थित कालोनियों में पानी भर गया। लोग घरों से नहीं निकल पा रहे हैं।
हबीबगंज अंडरब्रिज बंद कर दिया गया है। वहां 3 फुट पानी है।
शाजापुर में नेशनल हाईवे-3 पर बने नए पुल की एप्रोच रोड बह गई। इसके चलते सनकोटा से लेकर कनारदी जोड़ तक 15 किमी के हिस्से में करीब ढाई हजार वाहन 5 घंटे तक फंसे रहे। मौसम विभाग का कहना है कि इंदौर जिले में सक्रिय हुआ सिस्टम उज्जैन, शाजापुर की ओर बढ़ गया है।
खरगोन में भी बुधवार की रातभर पानी गिरने से भीकनगांव-झिरन्या रोड बंद हो गया। इसके चलते आदिवासी क्षेत्र का पंधाना व खंडवा से संपर्क टूट गया।
आभापुरी के पास जामरदा पुलिया का एप्रोच रोड बहने से आवागमन ठप हो गया।
भामगढ़ के पास भाम नदी उफान पर रही। इससे पुराना रपटा डूब गया। रात 12 बजे तीन पुलिया का नाला उफान पर आ गया।
बुरहानपुर के नेपानगर, देड़तलाई सहित अन्य क्षेत्रों में मकानों में पानी घुस गया। साजनी डेम का बैक वाटर 3 किमी तक नाले की पुलिया पर पहुंचा। इससे 10 गांवों का संपर्क टूटा। इसी मार्ग पर खंडवा से देड़तलाई और अमरावती हाईवे बंद रहा।
निंबोला क्षेत्र में नसीराबाद-बसाड़ रोड पर सूखी नदी पर बन रही पुलिया बाढ़ से बह गई। इससे 10 से ज्यादा गांवों सहित नेपानगर का बुरहानपुर से संपर्क टूट गया।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *