शिवराज सरकार MP में आज से शुरू करेगी ओबीसी महाकुंभ,जानिए क्या होगा ओबीसी महाकुंभ में

मध्य प्रदेश में बीते 15 सालों की बीजेपी सरकार के तीनों मुख्यमंत्री ओबीसी वर्ग से ही रहे.

सीएम शिवराज, पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर हों या फिर उमा भारती. यहां तक कि प्रदेश के कई कद्दावर मंत्री भी इसी वर्ग से आते हैं. बीजेपी चाहती है कि कोई भी वर्ग उनकी पहुंच से अछूता न रह जाए लिहाज़ा प्रदेश में अब संभाग स्तर पर ओबीसी महाकुंभ किए जा रहे हैं, जिसकी शुरुआत 6 मई को सागर से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कर रहे हैं.

सरकार सागर संभाग से ओबीसी महाकुंभ की शुरुआत करने जा रही है. ये महाकुंभ एक के बाद एक सभी संभागों में होगा, जिसमें खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह सरकार की नीतियों का बखान करेंगे.

क्या होगा ओबीसी महाकुंभ में

 

  •  प्रदेश में करीब 52% ओबीसी वोट बैंक है जिसपर पार्टी की नज़र है. इस वर्ग के लिए योजनाओं का ऐलान हो सकता है. बीजेपी के मुताबिक पहली बार ओबीसी महाकुंभ किया जा रहा है.

 

  •  बीजेपी सरकार OBC महाकुंभ में इस वर्ग से जुड़ी अपनी उपलब्धियों का भी बखान करेगी। कई OBC जातियों के गौरवशाली इतिहास का ज़िक्र भी किया जाएगा.

 

  •  ओबीसी आयोग के संवैधानिक दर्जे को लेकर बीजेपी कांग्रेस को घेरने की पूरी कोशिश करेगी. दरअसल, मोदी सरकार का ये प्रस्ताव कांग्रेस के विरोध के चलते राज्यसभा में पास नहीं हो सका.

 

  •  ओबीसी आयोग को एससी-एसटी आयोग की तर्ज पर संवैधानिक दर्जा दिए जाने की मांग लंबे वक्त से जा रही है. इसी मामले में बीजेपी कांग्रेस को ओबीसी विरोधी करार देने की पूरी कोशिश करेगी.

 

  •  साल 1951 में बने कालेलकर आयोग और 1955 में बने ओबीसी आयोग में रोड़े अटकाने को लेकर बीजेपी कांग्रेस को ज़िम्मेदार ठहराएगी.

 

  • कांग्रेस ने हाल में ही ओबीसी प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव को हटाया है. ज़ाहिर है इस नाराज़गी को भी बीजेपी भुनाने की कोशिश में है.

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *