पीएचई टेंडर घोटाला,जांच को आए एसई

*-जांच दल ने तलब किए दस्तावेज,मौके पर नहीं आये बाथम*

*-सीवर लाईन सहित नलकूप खनन में हुए गोलमाल के आरोप सामने आने के बाद आया जांच दल*

शिवपुरी
लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग शिवपुरी में पिछले दिनों सामने आए पाइप लाइन बिछाई टेण्डर घोटाला, सीवर में गड़बड़ी एवं सांसद निधि नलकूप खनन घोटाले को लेकर आज ग्वालियर सम्भागीय अधीक्षण यंत्री एसएल चौधरी ने पीएचई कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। जब अधीक्षण यंत्री यहाँ पहुंचे तो प्रभारी कार्यपालन यंत्री एसएल बाथम कार्यालय से नदारत मिले।
श्री चौधरी ने बताया कि उन्हें यहाँ टेण्डर में गड़बड़ी सहित कुछ अन्य अनियमितताओं की शिकायत मिली है जिसके चलते वे जाँच को आए हैं। श्री चौधरी ने कुछ कार्यों की माप पुस्तिकायें और टेण्डर रजिस्टर आदि भी तलब किए मगर ईई के न होने के चलते उन्हें सम्बन्धित दस्तावेज उपलब्ध नहीं हो सके। यहाँ बता दें कि प्रभारी कार्यपालन यंत्री श्री बाथम के कार्यकाल में शिवपुरी में सांसद निधि से नलकूप खनन की टेण्डर प्रक्रिया में गड़बड़ी सामने आई है साथ ही सीवर परियोजना में बोगस भुगतान का मामला भी जाँच की जद में है और पिछले दिनों करौंदी सम्पवेल से फिजीकल सम्पवेल तक बिना टेण्डर के लाइन बिछाई का मामला भी जाँच की जद में है। इस 17 लाख 50 हजार रुपए के पाइप लाइन बिछाई कार्य को विभाग ने बिना टेण्डर के ही करा डाला और जब टेण्डर आमंत्रित किए गए तो इस टेण्डर प्रक्रिया में एक से अधिक फर्मों ने प्रतिभागिता की जिसके चलते यह टेण्डर प्रक्रिया ही बिना कोई कारण बताए प्रभारी ईई श्री बाथम ने निरस्त कर दी। इस मामले की शिकायत ईओडब्लू को भी हुई है और पिछले दिनों ईओडब्लू की टीम भी इस प्रकरण को लेकर प्रभारी ईई एवं नगर पालिका शिवपुरी के अधिकारियों से जवाब तलब कर चुकी है। आज अधीक्षण यंत्री श्री चौधरी इसी सिलसिले में शिवपुरी आए हुए थे, पीएचई में एसई ने तमाम अन्य दस्तावेज भी खंगाले। एसई श्री चौधरी का कहना है कि वे पुन: इस प्रकरण की जाँच के लिए शिवपुरी आयेंगे। पीएचई कार्यालय से जब एसई के चले जाने की खबर ईई तक पहुंची तो वे कार्यालय आ गए और उन्होंने साढ़े सात बजे तक कार्यालय खोले रखा।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *