शहीदों के बच्चों की जिम्मेदारी उठाने के लिए सामने आया रिलायंस फाउंडेशन

रिलायंस फाउंडेशन ने कहा है कि दुनिया की कोई भी बुरी ताकत भारत की एकता को और आतंकवाद को हराने के संकल्प को नहीं तोड़ सकती। देश वीर जवानों की शहादत को नहीं भूल सकता। हम घायल जवानों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं।

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा (Pulwama Terror Attack)  में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए परिवारों की मदद के लिए उद्योगपति मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी की संस्था ने मदद का हाथ बढ़ाया है. मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस फाउंडेशन अब पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के परिवारों की शिक्षा और जीविकोपार्जन का पूरा खर्चा उठाएगी. रिलायंस फाउंडेशन ने पुलवामा आंतकी हमले में शहीद सीआरपीएफ जवानों के परिवारों की शिक्षा और जीविकोपार्जन की पूरी जिम्मेदारी लेने की शनिवार को पेशकश की. 

रिलायंस फाउंडेशन ने बयान जारी कर कहा, “शहीदों के प्रति कृतज्ञता जाहिर करते हुए रिलायंस फाउंडेशन उनके बच्चों की शिक्षा एवं रोजगार और उनके परिवारों के जीवकोपार्जन की पूरी जिम्मेदारी उठाने को तैयार है.” फाउंडेशन ने कहा कि उसके अस्पताल घायल जवानों के उपचार के लिए तैयार हैं. रिलायंस फाउंडेशन, रिलायंस इंडस्ट्रीज का परोपकारी संगठन है. कश्मीर के पुलवामा जिले में 14 फरवरी को हुये आतंकी हमले में सीआरपीएफ के कम-से-कम 40 जवान शहीद हो गए थे. 

अपोलो अस्पताल में घायल जवानों के फ्री इलाज के लिए तैयार

देश की प्रमुख अस्पताल चेन अपोलो ने कहा है कि वह देशभर में अपने अस्पतालों के जरिए घायल जवानों के मुफ्त इलाज के लिए तैयार है। अपोलो के चेयरमैन प्रताप रेड्डी ने शहीदों के परिवारों के प्रति संवेदना जताई है। उन्होंने कहा है कि हम पीड़ित परिवारों को सलाम करते हैं जिन्होंने देश को वीर जवान बेटे दिए।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *