उम्र भर सजा की दोषी बाल ग्रह संचालिका शैला अपने पिता का देती थी साथ, बच्चियों को रखती थी डराकर

नाबालिक  मासूम बच्चियों से यौन शोषण के मामले में दोषी बाल ग्रह संचालिका, अपने पिता का करती थी सहयोग, बच्चियों को रखती थी डराकर ,मंत्री कलेक्टर कर चुके है सम्मानित

पत्रकार गण ,समाजसेवक भी जाते थे अनाथ बच्चो की सेवा के लिए सामग्री लेकर , एस पी मोहम्मद युसूफ कुर्रेशी भी बांध चुके है अनाथ बहिनो को राखी ,

दुष्कर्म की दोषी बाल ग्रह की संचालिका को मंत्री , कलेक्टर कई बार कर चुके है सम्मानित

 

 

देश भर में चल रहे फर्जी और ढोंगी बाबाओ के दुष्कर्मो के मामले सामने आने के बाद इन पर निगरानी की नितांत आवश्यकता के साथ साथ ही भ्रष्टाचार और दुराचार में लिफ्त कई ऐसे सामजिक संस्थाओ और संगठनों को सम्मानित करने से पहले इनके कर्यकलापो पर निगरानी की आवश्यकता होगी सम्म्मानित करने वाली टीम को ,

शिवपुरी – शिवपुरी शहर की जानी पहचानी एडवोकेट शैला अग्रवाल जो अनाथ आश्रम (बाल ग्रह) चलाती थी शहर के कई समाज सेवी लोग इन अनाथ बच्चियों को रक्षाबंधन के पावन पर्व पर राखी बांधने यह सोचकर जाते थे ! की हमे अनाथ बच्चियों के भाई बनकर पुण्य प्राप्त होगा !

 

सच भी है उनकी सोच ,उन समाज सेवियो में पत्रकार गण भी पुण्य कर्म के सहभागी बने , यहाँ तक की एस पी मोहम्मद युसूफ कुरैशी भी इन अनाथ बहिनो को राखी बांध चुके है ! घेवर की मिठाई से भी अनाथ बहिनो का मुँह मीठा कराया पर शायद ही एस पी महोदय ने ऐसा सोचा होगा की इस बाल गृह की संचालिका की करतूत इस हद तक जा सकती है !

 

 

लोगो की माने तो उस 17 नबंबर 2016 की रात बाल गृह संचालन के स्थान टी व्ही टावर पटेल नगर पार्क के पास शिवपुरी मध्य्प्रदेश पर जब छापे की कार्यवाही के बारे में सुना तो मानो लोगो के पैरो तले जमीन खिशक गई हो ! एक पल के लिए वह विश्वास ही नहीं कर पा रहे थे ! की ऐसा भी हो सकता है !

आज से अलगभग ढेड़ साल पहले 17 नबम्बर 2016 को 6 बच्चियों से दुष्कर्म के मामले का हुआ था भंडाफोड़ !

तीन महिलाओ की हिम्मत से हुआ अनाथ पीड़ित बालिकाओ से दुष्कर्म के मामले का पर्दाफाश

1- सरिता शुक्ला 2-पूजा ठाकुर 3- रुपाली सिंह

यह ग्वालियर सिटी सेंटर में महिला समन्वयक है इन्होने जॉइंट डारेक्टर सुरेश तोमर , पूजा सिंह ,और रुपाली ठाकुर ने एक जांच रिपोर्ट कलेक्टर को पेश की थी जिसमे कलेक्टर को सूचित करते हुए लिखा था शकुंतला परमार्थ समिति के बाल ग्रह में बालिकाओ से यौन शोषण और मारपीट की जाती है !

यह शिकायत बाल कल्याण समिति के द्वारा संरक्षण अधिकारी के संज्ञान में लाई गई ! इस पर 16 नबम्बर 2016 को कॉउंसलर पूजा सिंह और रुपाली ठाकुर ने 6 बालिकाओ की काउंसलिंग की ! इसमें यह बात सामने आई की बाल ग्रह की संचालिका शैला अग्रवाल के पिता के. एन. अग्रवाल ने बालिकाओ के साथ बलात्कार किया !

शैला ने बालिकाओ की मारपीट की इस मामले में बच्चियों की ओर से सरिता खुद फरियादी बनी और 17 नबम्बर 2016 को थाने में रिपोर्ट दर्ज कराइ थी !

अभियोजन के अनुसार तत्कालीन पुलिस अधीक्षक मो.यूसूफ कुरैशी ने इस मामले का भंडाफोड करते हुए 16 नवंबर 2016 को इस आश्रम की आड़ में चल रहे अनाथालय का मामला प्रमुखता से उठाते हुए इस आश्रम की संचालिका एडवोकेट शैला अग्रवाल और इनके पिता  प्रोफेसर के एल अग्रवाल को हिरासत में ले लिया था।

हिरासत में लेते हुए शिवपुरी कोतवाली में टीआई संजय मिश्रा ने 7 मासूम बच्चीयों की रिपोर्ट पर चार आरोपीयों के खिलाफ धारा 376,323,354,506,190,120 आईपीसी एवम पास्को एक्ट की धारा 3,4,5,6,7,8,9 एवम एससी एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया था।

बेटी का अपने पिता को दुष्कर्म के लिए सहयोग करना मानव ह्रदय को दहला देने वाले कृत्य से कम नहीं है ,

शकुंतला परार्मश समिति की संचालिका और उसके पिता प्रोफेसर के एन अग्रवाल को आज शिवपुरी के विशेष एवं सत्र न्यायाधीश अरूण कुमार वर्मा की कोर्ट में दोनों आरोपीयों को अभूतपूर्व फैसला सुनाया है। इस मामले की सुनवाई करते हुए माननीय न्यायाधीश ने दोनों आरोपीयों को अलग अलग धाराओं में सश्रम कारावास सहित आजीवन जेल की सजा सुनाई है

शैला अग्रवाल के वकील विजय तिवारी ने कोर्ट से फैंसला आने के बाद कहा मेरे मुवक्किल को न्याय प्रक्रिया पर पूरा भरोसा है और इस मामले की अपील हम हाईकोर्ट में करेंगे !

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *