पाकिस्तान में लड़कियों के धर्म परिवर्तन के खिलाफ सिंधी फाउंडेशन उठाएगा आवाज

पाकिस्तान में जबरन लड़कियों के धर्म परिवर्तन कराने के खिलाफ सिंधी संगठन अमेरिका में आवाज उठाएगा. सिंधी संगठन न्यूयॉर्क में यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली (UNGA) की बैठक में पाकिस्तान में कराए जा रहे धर्मांतरण के खिलाफ 26 सितंबर को विरोध प्रदर्शन करेगा.

हर साल 1 हजार लड़कियों का होता है धर्म परिवर्तन
जानकारी के मुताबिक, हर साल 1 हजार सिंधी हिन्दू लड़कियों की जबरन शादी कराने के बाद इस्लाम कबूल कराया जाता है। उस दौरान इन लड़कियों की उम्र 12 से 18 होती है। बता दें कि थोड़े दिन पहले पाकिस्तान की एक सिख लड़की का पाकिस्तान में जबरन शादी कराके धर्म परिवर्तन की भी खबर सामने आई थी। 

हर महीने इतनी सिंधि लड़कियों का होता है जबरन धर्म परिवर्तन
मिली जानकारी के मुताबिक, हर महीने 40 से 60 सिंधि लडकियों इसका शिकार बनती हैं। पाकिस्तान के मानवाधिकार संगठन के मुताबिक, जनवरी 2004 से मई 2018 में पाकिस्तान में सिंधी लड़कियों के धर्म परिवर्तन के केस कम से कम 7 हजार 430 हुए हैं। 

पुलिस करती है अनदेखा
पाकिस्तान के ह्यूमन राइट कमीशन के मुताबिक, इन लड़कियो की गुमशुदा होने की जानकारी पुलिस को दी जाती है तो वह इसकी अनदेखी करते हैं। 

धर्म परिवर्तन में शामिल है ये संठगन
सिंधी संगठन के मुताबिक, इस तरह के धर्म परिवर्तन में राजनीतिक नेता और आर्मी का भी हाथ होता है। खबरों के मुताबिक, मिआन मिथु एक राजनीतिक लीडर और धार्मिक नेता हैं, जो सिंधी लड़कियों का धर्म परिवर्तन कराते हैं। इसके अलावा सिंधी संगठन ने दावा किया है कि इनका आर्मी और पाकिस्तान पीएम इमरान खान से संबंध हैं, जो उन्हें बिना किसी इजाजत के ऐसा काम करने देते हैं।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *