बीजेपी को रोकने के लिए कांग्रेस के साथ आई ये पार्टी, इन सीटोंं पर करेगी समर्थन…

मध्य प्रदेश में बीजेपी के गढ़ में सेंध लगाने और कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में प्रचार करने के लिए कांग्रेस को एक साथी मिल गया है। प्रदेश की आदिवासी बाहुल सीटों पर प्रभाव रखने वाली गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने कांग्रेस का साथ देने का ऐलान किया है।

दिल्ली में गोंगपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष हीरा सिंह मरकाम ने कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की। जिसके बाद उन्होंने एक बयान में कहा कि जहां बीजेपी मजबूत है वहां उनकी पार्टी कांग्रेस प्रत्याशी को समर्थन देगी। 

दरअसल, गोंडवाना पार्टी का प्रदेश की आदिवासी बाहुल सीटों पर काफी अच्छा प्रभाव है। इस बार विधानसभा चुनाव में जो नतीजे सामने आए हैं उनसे इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि आदिवासी वोट बैंक कांग्रेस की ओर खिसक रहा है। गोंडवाना पार्टी के पारंपरिक वोटर भी अब कांग्रेस के साथ जुड़ जाएंगे तो बीजेपी के लिए कई सीटों पर परेशानी बन सकती है। इसमें बालाघाट, मंडला, शहडोल सीटें शामिल हैं। शहडोल से तो बीजेपी सांसद ज्ञान सिंह टिकट कटने से काफी नाराज हैं। उन्होंने ऐलान भी कर दिया है वह पार्टी उम्मीदवार के लिए प्रचार नहीं करेंगे, बीजेपी ने उनकी जगह कांग्रेस से बीजेपी में आईं हिमाद्री को उम्मीदवार बनाया है। वहीं, ज्ञान सिंह निर्दलीय चुनाव लड़ने से पीछे हट गए हैं उन्होंंने कहा है कि वह गरीब हैं इसलिए चुनाव नहीं लड़ सकते।  गोंगपा के कार्यवाहक अध्यक्ष तुलेश्वर मरकाम ने जानकारी देते हुए बताया कि  8 अप्रैल को दोनों नेताओं की मुलाका दिल्ली में हुई थी। इस दौरान तय हुआ है कि जहां भाजपा प्रत्याशी मजबूत होगा, वहां गोंगपा कांग्रेस प्रत्याशी का समर्थन करेगी। 

इन सीटों पर उतरे प्रत्याशी

इस बैठक से पहले ही गोंगपा ने मंडला संसदीय क्षेत्र से अपना प्रत्याशी उतार दिया है। इस सीट पर भाजपा प्रत्याशी फग्गन सिंह कुलस्ते का मुकाबला रामदुलारे उइके करेंगे। उइके गोंगपा की टिकट पर वर्ष 2003 में घनसोर विधानसभा से जीते थे। सीधी से फतेह बहादुर मरकाम और शहजोल से तेजप्रताप उइके को उतारा है। पार्टी के कार्यवाहक अध्यक्ष तुलेश्वर ने बताया कि इन सीटों पर लगा कि कांग्रेस को सहारे की जरूरत है इसलिए हम उनका समर्थन करेंगे। 

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *