मतदाता को मतदान हेतु वोटर स्लिप के साथ एक वैकल्पिक दस्तावेज भी लाना होगा

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकार ने जिला अधिकारियों को दिए निर्देश

शिवपुरी| कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती अनुग्रहा पी ने लोकसभा निर्वाचन 2019 हेतु अधिकारियों कों सौंपे गए कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि ग्राम पंचायतों में बीएलओ के माध्यम से मतदाता सूची का वाचन कराए।

स्पीकर के माध्यम से घर-घर जाकर मतदान के दौरान वोटर स्लिप के साथ आयोग द्वारा मतदाता की पहचान हेतु वैकल्पिक दस्तावेजों की भी जानकारी दें। कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने उक्त आशय के निर्देश जिलाधीश कार्यालय के सभाकक्ष में जिलाधिकारियों एवं नोडल अधिकारियों की बैठक में दिए।

बैठक में अपर कलेक्टर श्री अशोक कुमार चैहान, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एच.पी.वर्मा सहित जिले के सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारी एवं जिलाधिकारीगण आदि उपस्थित थे।  कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने सभी निर्माण एवं विकास कार्यों से संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान आदर्श आचरण संहिता लागू होने से किसी भी प्रकार का नया निर्माण एवं विकास कार्य शुरू न करें।

उन्होंने सभी अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) को निर्देश दिए कि राजनैतिक आम सभाओं के लिए अपने-अपने अनुभाग में स्थान चिंहित कर प्रथम आओ-प्रथम पाओं की तर्ज पर अनुमति प्रदाय करें। इसके लिए विधिवत रूप से पंजी भी संधारित की जाए। इसी प्रकार हेलीपेड की अनुमति भी संबंधित अनुविभागीय अधिकारी अधिकृत रहेंगे।

जिला मुख्यालय पर स्थित हवाई पट्टी के लिए अपर कलेक्टर के माध्यम से अनुमति दी जाएगी। कलेक्टर ने सभी अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि ईव्हीएम एवं वीवीपेट का प्रदर्शन हाॅट, बाजार के साथ-साथ प्रत्येक मतदान केन्द्र पर भी किया जाए।  उन्होंने निर्देश दिए कि सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारी अपने-अपने स्तर पर डीजे एवं लाउण्ड स्पीकर संचालकों की बैठक आयोजित कर उन्हें निर्देशित करें कि रात्रि 10 बजे के पश्चात किसी भी प्रकार का ध्वनि विस्तारक यंत्र का उपयोग न किया जाए।

जनप्रतिनिधियों को दिए गए शासकीय कर्मियों को भी वापस लेने की कार्यवाही करें। उन्होंने जिला आबकारी अधिकारी को निर्देश दिए कि आबकारी टीम द्वारा अवैध शराब के संबंध में की जाने वाली कार्यवाही का प्रतिदिन का प्रतिवेदन जिला निर्वाचन कार्यालय को प्रस्तुत करें। उन्होंने सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारियों को निर्देश दिए कि क्षेत्र में ऐसे असामाजिक तत्व जो मतदान को प्रभावित कर सकते है, उनके विरूद्ध अभी से कार्यवाही सुनिश्चित की जाए।

ऐसे मतदान केन्द्र जहां मतदान का प्रतिशत कम रहा है, उन केन्द्रों पर विशेष जागरूकता अभियान चलाकर मतदाताओं को मतदान के लिए प्रेरित किया जाए। इसके लिए स्वीप की विभिन्न गतिविधियां भी संचालित की जाए। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसी भी प्रकार का नवीन निर्माण एवं विकास कार्य शुरू न किए जाए।

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *