आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने घोषित किया मप्र में पार्टी का मुख्यमंत्री पद का चेहरा

*प्रदेश अध्यक्ष आलोक अग्रवाल होंगे आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार*

*आलोक अग्रवाल ने स्टाम्प पेपर पर लिखकर किए किसान, बिजली, पानी, रोजगार से जुड़े 30 वादे*

*शिवपुरी*, 16 जुलाई।* आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता एवं विधानसभा प्रभारी पीयूष शर्मा एड.ने बताया है कि पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मध्य प्रदेश में पार्टी के चुनाव प्रचार का आगाज कर दिया है।

उन्होंने इस मौके पर पार्टी के मुख्यमंत्री के चेहरे के रूप में प्रदेश अध्यक्ष आलोक अग्रवाल को आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री पद का प्रत्याशी घोषित किया। उन्होंने कहा कि आलोक अग्रवाल को मुख्यमंत्री के रूप में चयन कर पार्टी ने प्रदेश के कार्यकर्ताओं के उत्साह को दोगुना कर दिया है। आगामी चुनाव में आम आदमी पार्टी मध्य प्रदेश की वर्तमान भ्रष्टाचार और लूट की सरकार को उखाड़कर आम आदमी का राज स्थापित करेगी और मध्य प्रदेश को बदलने के अपने संकल्प को पूरा करेगी।

उन्होंने बताया कि इंदौर में आलोक अग्रवाल के मुख्यमंत्री प्रत्याशी के नाम पर मोहर लगी और इस मौके पर श्री अग्रवाल की ओर से स्टाम्प पेपर पर नोटरी कर एक शपथ पत्र *(वादों के शपथ पत्र की प्रति संलग्न है)* जारी किया गया है। इस शपथ पत्र में पार्टी की सरकार बनने के बाद किए जाने वाले 30 सबसे महत्वपूर्ण कामों का वादा किया गया है। इनमें किसानी, बिजली, रोजगार, पानी, आदिवासी, पेंशन और कर्मचारियों से जुड़े मुद्दों पर किए जाने वाले कामों से संबंधित वादे शामिल हैं।

विधानसभा प्रभारी पीयूष शर्मा एड.ने बताया कि केजरीवाल 15 जुलाई को इंदौर के सुगनी देवी मैदान, परदेशीपुरा में पार्टी के पदाधिकारी सम्मेलन में शामिल होने आए थे। वे करीब 8 घंटे इंदौर में रहे। इस दौरान पूरा इंदौर आम आदमी मय हो गया था। इस दौरान केजरीवाल ने मध्य प्रदेश सरकार के समक्ष प्रस्ताव रखा कि शिवराज सिंह चौहान के 15 साल और आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार के 3 साल के कामों पर खुले मंच पर जनता के आमने सामने बहस हो जाए। जनता तय कर लेगी, अगर आपने 15 साल में ज्यादा काम किए तो आपका हक बनता है कि आप 5 साल और शासन करें, लेकिन अगर हमारे 3 साल भारी पड़े तो आलोक अग्रवाल को मुख्यमंत्री बनने का हक है।

प्रदेश प्रवक्ता,विधानसभा प्रभारी और शिवपुरी विधानसभा क्र.25 के घोषित प्रत्याशी पीयूष शर्मा एड. ने कहा कि आम आदमी पार्टी हिंदू-मुस्लिम या मंदिर-मस्जिद की राजनीति नहीं करती है। हम शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, बिजली, पानी, रोजगार, किसानी, महिला सुरक्षा के लिए काम करने वाले लोग हैं। हमारे उद्देश्य सत्ता को बदलना नहीं, बल्कि व्यवस्था को बदलना है। व्यवस्था को बदलने के लिए सत्ता हासिल करना जरूरी है और आगामी विधानसभा चुनावों में जनता की मदद से आम आदमी पार्टी इस भ्रष्ट सत्ता को उखाड़ फेंकेगी और आम आदमी का राज स्थापित करेगी।

उन्होंने आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री पद के दावेदार श्री अग्रवाल का संक्षिप्त जीवन परिचय भी जारी किया। *(जीवन परिचय की प्रति संलग्न है)*

*मीडिया सेल*

*आम आदमी पार्टी, विधानसभा शिवपुरी*

*संपर्क:*

*(पीयूष शर्मा एड. प्रदेश प्रवक्ता एवं प्रत्याशी विधानसभा क्र.25 शिवपुरी 9425136850)*

संलग्न:

#आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और सी.एम. कैंडिडेट,चेहरे आलोक अग्रवाल जी का परिचय

25 अगस्त 1967 को जन्मे आलोक अग्रवाल एक राजनेता और सामाजिक कार्यकर्ता हैं। वर्तमान में वे आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता, राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य और मध्यप्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष हैं। इससे पहले वे नर्मदा बचाओ आंदोलन के प्रमुख स्तम्भ रहे हैं। नर्मदा बचाओ आंदोलन ने बड़े बांधों से हो रहे नर्मदा घाटी के विनाश के खिलाफ और इनसे प्रभावित होने वाले लाखों लोगों के पुनर्वास के लिए आदिवासी, किसान, मजदूरों का लंबा संघर्ष किया है। जनवरी 2014 में वह आम आदमी पार्टी में शामिल होकर निरंतर संघर्ष और संगठन को बढ़ा रहे हैं।

*सामाजिक जीवन की शुरुआत*

आलोक अग्रवाल ने 1989 आई आई टी कानपुर से केमिकल इंजीनियरिंग में बी.टेक किया।

गाँधीवादी विचारधारा को मानने वाले आलोक आई आई टी के दिनों से ही सार्वजानिक जीवन में सक्रिय हैं। वे आई आई टी कानपुर परिसर के पास के हरिजन मोहल्ले में रहने वाले बच्चों को पढ़ाते थे। इसके बाद जब बच्चों की संख्या बढ़ी तो उन्होंने वहाँ सरकारी स्कूल स्थापित करने के लिए संघर्ष किया। उन्होंने आई आई टी कानपुर परिसर में काम करने वाले मजदूरों के बच्चों की शिक्षा के लिये और उन मजदूरों की न्यूनतम मजदूरी के लिये भी संघर्ष किया। इस प्रकार उनके सामाजिक जीवन व संघर्ष की शुरुआत आई आई टी के समय से ही हो गयी थी।

बी.टेक की डिग्री हासिल करने के बाद आलोक आम लोगों की दशा जानने के लिये एक वर्ष पूरे देश मे घूमे। इस दौरान वह मध्य प्रदेश के आदिवासी क्षेत्र में आदिवासियों के साथ रहे, मुम्बई में झोपड़ पट्टी वालों के बीच समय बिताया, ओड़िसा में मछुआरों के पास उनका जीवन समझा। गांधी के विचारों को समझने के लिये सेवाग्राम में रहे। रविन्द्र नाथ टैगोर के दर्शन को जानने शांतिनिकेतन पहुंच गये। इस तरह वह देश भर में लोगों के बीच रहे।

इसी बीच वह नर्मदा घाटी के विस्थापितों की लड़ाई में शामिल हुए और लाखों आदिवासी, किसानों, मजदूरों के अधिकारों की लड़ाई को मजबूत करने का संकल्प लेकर नर्मदा घाटी के होकर रह गये।

*नर्मदा बचाओ आंदोलन*

आलोक जी ने 25 वर्ष का अपना पूरा जीवन नर्मदा घाटी में लोगों के संघर्ष में बिताया। उनका कार्य क्षेत्र अलीराजपुर, धार, बड़वानी, खरगोन, खंडवा, देवास, हरदा जिले रहे। बरगी बांध के जबलपुर, सिवनी व मंडला जिलों में चल रहे संघर्ष में भी उन्होंने सक्रिय सहयोग दिया।

आलोक जी ने नर्मदा घाटी के इंदिरा सागर, ओम्कारेश्वर, महेश्वर, अपर वेदा व मान बांध के लाखों विस्थापितों के संघर्षों के लिए अथक सेवा कार्य किये !
जय हिन्द,

मीडिया सेल
*आम आदमी पार्टी जिला शिवपुरी मध्यप्रदेश*

Durgesh Gupta

Chief Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *